भोपाल। राजस्थान और उसके आसपास के क्षेत्र पर बने सिस्टम के कारण राजधानी सहित प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में मौसम का मिजाज बदल गया है। इसी क्रम में शहर में गुरुवार को बादल छाए रहे,धूल भरी तेज हवाएं चलीं,साथ ही सुबह और शाम के समय अलग-अलग स्थानों पर बूंदाबांदी भी हुई।

मौसम विज्ञानियों के मुताबिक शुक्रवार को इस तरह की स्थिति बनी रहने के आसार हैं। प्रदेश में कुछ स्थानों पर ओले गिरने और बौछारें पड़ने से शहर में रात के तापमान में कुछ गिरावट भी हो सकती है।

मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक गुरुवार को न्यूनतम तापमान 19.8 डिग्रीसे. दर्ज हुआ,जो सामान्य से 3 डिग्रीसे. अधिक रहा। साथ ही बुधवार के न्यूनतम तापमान(18.4) के मुकाबले 1.4 डिग्रीसे. अधिक रहा। इसी तरह गुरुवार का अधिकतम तापमान 33.5 डिग्रीसे. दर्ज हुआ,जो कि सामान्य से 1 डिग्रीसे. अधिक रहा,लेकिन बुधवार के अधिकतम तापमान(34.8) के मुकाबले 1.3 डिग्रीसे. कम रहा।

मौसम विज्ञानी बीके साहा ने बताया कि गुरुवार को सुबह से बादल बने रहने के साथ ही 10 से 20 किमी. प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चलीं। कुछ स्थानों पर बूंदाबांदी भी हुई। इस वजह से दिन के तापमान में मामूली गिरावट दर्ज की गई।

दरअसल पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से वर्तमान में दक्षिण-पूर्वी राजस्थान से लगे गुजरात और पश्चिमी मप्र पर एक प्रेरित चक्रवात बना हुआ है। इसके अलावा मध्य भारत पर पूर्वी और पश्चिमी हवाओं को टकराव हो रहा है। इस वजह से राजधानी सहित प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में बादल छाए हुए हैं।

साथ ही तेज हवा चलने के साथ गरज-चमक और बौछारें पड़ने की संभावना बनी हुई है। शुक्रवार को भी शहर में गरज-चमक के साथ बूंदाबांदी होने या हल्की बौछारें पड़ने की संभावना है।