- 48 करोड़ रुपए की लागत से बनाया जा रहा है ब्रिज

- जून माह में पूरा हो जाना था ओवर ब्रिज का काम

- अक्टूबर के बाद पूरा हो सकता है काम

- ब्रिज के एप्रोच रोड से स्थानीय लोग हो रहे हैं परेशान

औबेदुल्लागंज। नवदुनिया प्रतिनिधि

नगर में बन रहा है ओवर ब्रिज का निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है। लेकिन, इस तेजी में गुणवत्तापूर्व कार्य नहीं किया जा रहा है। इसी का नतीजा है कि ओवर ब्रिज के तैयार होने के पहले ही दरारें पड़ने लगी हैं। यही नहीं इसके बनकर तैयार होने का समय भी बढ़ता जा रहा है। जबकि इसे जून माह में तैयार हो जाना था। लेकिन, अब तक यह तैयार नहीं हो सका है। वर्तमान में जिस गति से निर्माण कार्य चल रहा है, उससे अंदाजा लगाया जा रहा है यह अक्टूबर माह के बाद भी तैयार हो पाएगा। वहीं ब्रिज के दोनों ओर बनाई गई एप्रोच रोड स्थानीय लोगों के लिए परेशानी का कारण बन चुकी है।

नगर में भोपाल से रेहटी की तरफ जाने के लिए ओवर ब्रिज बनाया जा रहा है। ओवर ब्रिज की लंबाई लगभग एक किलोमीटर है। इसका निर्माण दो साल पहले शुरू हुआ था। दो साल में कई बार काम बंद रहा। इस कारण काम पीछे होता गया। वहीं अब जो काम किया जा रहा है वह तेज गति से तो किया जा रहा है। लेकिन, गुणवत्ता पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। स्थिति यह है कि ब्रिज में कई जगह दरारें आ गई हैं। ब्रिज बना रही कंपनी इन दरारों को सीमेंट और रेत से बंद कर रही है।

दिसंबर 2017 में पूरा होना था काम

दिसंबर 2017 तक ब्रिज बनकर तैयार हो जाना था। लेकिन, नहीं बना। इसी दौरान नगर के प्रवास पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज आईं थीं। उन्होंने ब्रिज का अवलोकन भी किया था। इस दौरान उन्होंने ब्रिज बना रही कंपनी के अधिकारियों से बातचीत की थी और पूछा था कि यह कब तक तैयार हो जाएगा। इस पर कंपनी ने कहा था कि यह जून 2018 में तैयार हो जाएगा। लेकिन, अभी भी ब्रिज का 25 प्रतिशत काम बचा हुआ है।

जगह-जगह आईं दरारें

वर्तमान में ठेकेदार के मजदूर काम तो तेजी से कर रहे हैं। लेकिन, गुणवत्ता पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इसी का नतीजा है कि ब्रिज में जगह-जगह दरारें आ गई हैं। कुछ जगहों पर ठेकेदार के मजदूरों ने दरारों पर सीमेंट और रेत का लेप लगा दिया हैं। ओवर ब्रिज की दरारों को देखकर गुणवत्ता पर भी सवाल उठने लगे हैं।

एप्रोच रोड वाहन चालक सहित दुकानदार परेशान

ब्रिज कारपोरेशन द्वारा ब्रिज के दोनों ओर एप्रोच रोड बनाई गई है। एप्रोच रोड के निर्माण में भी ठेकेदार ने लापरवाही बरती, जिसका खामियाजा दुकानदारों और वाहन चालकों को भुगतना पड़ रहा है। एप्रोच रोड में बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं। थोड़ी सी बारिश होने के बाद इनमें पानी भर जाता है। इससे वाहन चालकों को निकलना मुश्किल हो जाता है। वहीं धूप होने के बाद जैसे ही पानी सूखता है तो धूल उड़ने लगती है। ऐसे में क्षेत्र के दुकानदारों को परेशानी का सामना करना पड़ता है।

मैं कुछ नहीं कह सकता

मैं आपकी शिकायत के बारे में औबेदुल्लागंज आकर बात करुंगा। यदि कुछ पूछना है तो ई साहब से बात कर लो। मैं फिलहाल कुछ भी नहीं कह सकता।

- ज्योति जैन, एसडीओ ब्रिज कारपोरेशन

---

दिसंबर तक तैयार हो जाएगा

ओवर ब्रिज का काम तेजी से चल रहा है। इसे जून माह में तैयार करके देना था। लेकिन, रेलवे के कारण देरी हो गई। रेलवे की देरी के कारण हमने दिसंबर तक का समय मांगा है। जहां तक बात रही गुणवत्ता की तो उसमें किसी भी प्रकार लापरवाही नहीं बरती जा रही है।

- रंजीतसिंह, मैनेजर ओवर ब्रिज निर्माण कंपनी