-स्कू लों में लगेंगे टीके , कलेक्टर ने बैठक में अफसरों को अभियान को गंभीरता से लेने की हिदायत दी

बुरहानपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

मीजल्स रुबेला टीकाकरण अभियान के तहत 15 जनवरी से 28 फरवरी तक 9 माह से 15 वर्ष तक के सभी बच्चों को टीका लगाया जाएगा। कलेक्टर उमेश कु मार ने जिले के लोगों से आह्वान किया है कि वे अपने बच्चों को इस अभियान के तहत यह टीका अवश्य लगवाएं।

सोमवार को समय सीमा की बैठक में कलेक्टर ने शिक्षा विभाग, स्वास्थ्य विभाग तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के अफसरों को निर्देश दिए कि वे जिले के स्कू लों व आंगनवाड़ियों में दर्ज 15 वर्ष आयु तक के सभी बच्चों को ये टीके लगवाना सुनिश्चित करें। सीएमएचओ डॉ. विष्णुकांत खरे ने बताया कि टीका पूर्णतः निशुल्क है। इसको लगवाने के बाद बच्चे मीजल्स व रुबेला नामक बीमारियों से मुक्त रहेंगे। 15 जनवरी को जिले के स्कू लों में टीकाकरण शुरू होगा।

मतदाता सूचियों को लेकर भी दिए निर्देश

भारत निर्वाचन आयोग द्वारा 1 जनवरी 2018 को 18 वर्ष की आयु पूर्ण कर चुके नवीन मतदाताओं के नाम मतदाता सूची में शामिल करने की कार्रवाई 26 दिसंबर 2018 से शुरू कर दी गई है। यह 25 जनवरी तक चलेगी। कलेक्टर ने जिला शिक्षा अधिकारी व महाविद्यालयों के प्राचार्यों से कहा कि हायर सेकं डंरी स्कू लों व सभी महाविद्यालयों में 1 जनवरी को 18 वर्ष की आयु पूर्ण कर चुके विद्यार्थियों के नाम मतदाता सूची में जुड़वाने के लिए उन्हें प्रेरित करें। वे अपने निकटतम मतदान कें द्र पर जाकर अपने नाम वोटर लिस्ट में जुड़वाएं ताकि आगामी दिनों में संपन्न होने वाले लोकसभा निर्वाचन के दौरान अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकें ।

आवास निर्माण कार्यों में तेजी लाएं

कलेक्टर ने समय सीमा की बैठक में विभिन्न विभागों में संचालित शासकीय योजनाओं की समीक्षा की। उन्होंने विभागवार समीक्षा करते हुए अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत नगरीय व ग्रामीण निकाय में चल रहे आवास निर्माण की समीक्षा कर लेटलतीफी पर नाराजी जताई और उक्त कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिए। खाद्य विभाग को निर्देश दिए कि आधार सीडिंग कार्य तथा उज्ज्वला योजना के क्रियान्वयन में तेजी लाएं। राजस्व अधिकारी को राजस्व वसूली बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने समय सीमा पत्र, समाधान एक दिवस योजना, लोक सेवा गारंटी सहित अन्य प्रकरणों की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिए कि कोई भी प्रकरण लंबित न रखें।