बुरहानपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

जिले में मकर संक्रांति पर्व इस बार 14 व 15 जनवरी तक दो दिनों तक मनाया जा रहा है। संक्रांति पर्व को लेकर सोमवार को शहर का आसमान रंग बिरंगी पतंगों से पट गया। जगह-जगह पतंगबाजी के आयोजन हुए और खुशियों की पतंगें आसमान पर झूूूमी। लोगों ने तिल-गुड़ बांटा और पतंगबाजी का आनंद लिया।

नगर निगम प्रशासन द्वारा शहर के स्टेडियम ग्राउंड पर मकर संक्रांति के उपलक्ष्य में आनंद उत्सव कार्यक्रम का आयोजन कि या गया। इस कार्यक्रम में जनप्रतिनिधि व निगम के अफसर-कर्मियों ने स्टेडियम पर आए लोगों को तिल गुड़ बांटा। बच्चों को पतंग व परिधि बांटी गई। पतंग व मांजे के लिए बच्चों की भीड़ लग गई। महापौर अनिल भोंसले एवं युवा नेता हर्षितसिंह ठाकु र ने बच्चों को पतंग व परिधि के साथ तिल-गुड़ बांटा।

महापौर व अफसरों ने की पतंगबाजी

स्टेडियम पर पतंगबाजी के लिए बच्चे बड़ी संख्या में पहुंचे। बच्चों ने जमकर पतंगबाजी की। बच्चों को पतंगबाजी करते देख महापौर अनिल भोंसले एवं हर्षितसिंह ठाकु र खुद को रोक ना सके और उनके बीच जाकर पतंगबाजी की। वहीं निगम के अफसरों ने भी पतंगबाजी में हाथ आजमाए। कभी अफसरों की पतंग कटी तो कभी उन्होंने लोगों की पतंग काटी। वहीं महापोर ने आसमान में उड़ रही पतंग के पैच को काटा तो वहां मौजूद बच्चों ने तालियां बजाकर खुशी जताई। यह उत्सव सात दिनों तक चलेगा। 21 जनवरी को इसका समापन होगा। इस दौरान एमआईसी सदस्य विठ्ठल खोसे, पार्षद पति मुके श चौहान, राजेश भगत, मोहन भुजबल, अभियंता अनिल गंगराड़े, घनश्याम पाटिल, अशोक पाटिल आदि मौजूद थे।

आज मंदिर में बताएंगे तिलगुड़ व संक्रांति का महत्व

मकर संक्रांति पर्व मंगलवार को धूमधाम से मनाया जाएगा। मंदिरों में दानपुण्य होंगे। इतवारा के श्रीगोकु लचंद्रमाजी मंदिर में संक्रांति का विशेष मनोरथ होगा। मकर संक्रांति व तिलगुड़ बांटने व खाने का महत्व बताया जाएगा। पंडित हरिकृष्ण मुखियाजी ने बताया कि मकर संक्रांति से भगवान सूर्यनारायण उत्तरायण की ओर बढ़ेंगे। प्रतिदिन तिलतिल का समय बढ़ेगा और शीतलहर से छुटकारा मिलेगा।