-अस्पताल की पोल न खुले इसलिए इलाज कराने जा रहे मीडियाकर्मियों को भी गेट में रोका जा रहा

भोपाल। नवदुनिया प्रतिनिधि

हमीदिया अस्पताल के अधीक्षक डॉ. दीपक मरावी के तुगलकी फरमान के चलते मरीजों को खासा परेशानी हो रही है। गंभीर मरीज को लेकर आने वाले ऑटो को भी मेन गेट से आगे नहीं जाने दिया जा रहा है। इसी तरह से शवगृह में बॉडी रखने व बॉडी लेकर जाने वाले वाहनों को भी बहुत ज्यादा परेशानी होती है। परिजन बिलखते रहे हैं, लेकिन एंबुलेंस शव लेने के लिए एंबुलेंस सीएमओ से लिखित अनुमति लेने के बाद ही अंदर आ पाती हैं।

इसके चलते हर दिन सुबह विवाद की स्थिति बन रही है। विवाद के चलते रायल मार्केट मेन रोड तक जाम की स्थिति बन जाती है। मरीजों को लेकर आने-जाने वाली एंबुलेंस भी जाम में फंस जाती हैं। तीन महीने पहले नई सुरक्षा एजेंसी के काम संभालने के बाद अस्पताल अधीक्षक डॉ. मरावी ने इस तरह की सख्ती के निर्देश दिए थे।

इसके अलावा अस्पताल में कमियों की पोल न खुले, इसलिए मीडियाकर्मियों को मेनगेट से आगे नहीं जाने दिया जा रहा है। भले ही वह ब्लड बैंक, शवगृह या फिर इलाज कराने के लिए जा रहे हों।

-------------

इस तरह से किसी मरीज और मीडिया को अंदर आने से नहीं रोकना चाहिए। इस संबंध में हमीदिया के अधिकारियों से बात की है। ऐसा करने से मना भी किया है।

अजातशत्रु श्रीवास्तव

कमिश्नर, भोपाल संभाग