पर्यटन एवं धार्मिक नगरी खजुराहो में आज पधारेंगे आचार्य विद्यासागर महामुनिराज ससंघ

छतरपुर। जैन संत आचार्य श्री विद्यासागर महाराज ने बमीठा नगर में अपने प्रवचनों में बमीठा नगर की तारीफ करते हुए कहा कि जो बहुत मीठा वहीं बमीठा है। आचार्य श्री अतिशय क्षेत्र पपैरा जी से अनवरत रूप से खजुराहो की ओर पदविहार कर रहे हैं। आचायश्री के साथ 38 मुनिराज भी साथ चल रहे है।

महाराज ससंघ की बमीठा नगरवासियों सहित हजारों की संख्या में श्रद्घालुओं ने भव्य आगवानी की। जैन मंदिर प्रांगण में आचार्यश्री ने अपना मंगल आशीर्वाद दिया तथा बमीठा में पूज्य आचार्यश्री के पाद प्रक्षालन का परमसौभाग्य छतरपुर निवासी प्रेमचंद्र जैन कुपी परिवार को मिला। आचार्यश्री विद्यासागर महाराज का पडढाहन करके आहार दान देने का सौभाग्य बालचंद जैन पीरा, प्रकाशचंद जैन छतरपुर एवं उनके परिवार वालों को प्राप्त हुआ। आहारचर्या एवं सामायिक के बाद शाम 3 बजे पदविहार करते हुए रात्रि विश्राम कम्युनिटी सेंटर हवाई अड्डा खजुराहो में होगा। तत्पश्चात 14 जुलाई को प्रातः 6 बजे खजुराहो नगर में प्रवेश करेंगे। विश्व प्रसिद्घ धार्मिक एवं पर्यटक नगरी अतिशय क्षेत्र खजुराहो में आचार्य

विद्यासागर महाराज 38 मुनिराजों के साथ प्रवेश करेंगे। माना जा रहा है कि पूज्य आचार्य संघ का पावन वर्षायोग 2018 यहीं सम्पन्न होगा। खजुराहो में बड़े परिसर में प्राचीन शैली के लगभग 15 विशाल मंदिर है। एक प्राचीन चौबीसी मन्दिर है एवं यात्रियों को सर्व सुविधायुक्त बड़ी 2 धर्मशालाएं। क्षेत्र के अध्यक्ष विनोद कुमार जैन खजुराहो, मंत्री रमेशचंद्र जैन सतना सहित संपूर्ण कमेटी व्यवस्थाओं में जुटी हुई है। आगामी 17 जुलाई को पूज्य आचार्य भगवन की मुनिदीक्षा के 50 वर्ष पूर्ण होने पर संयम स्वर्ण महोत्सव की सम्पूर्णता दिवस को कुछ खास अंदाज में मनाए जाने की तैयारियां भी की जा रही है।

नोट समाचार के साथ फोटो 13 का केप्सन है

छतरपुर। बमीठा से ससंघ पदविहार करते आचार्य विधासागर महाराज।