छिंदवाड़ा। प्रेमिका से मिलने गए युवक को प्रेमिका के पिता एवं भाई ने देख लिया। इसके बाद गुस्से में आए प्रेमिका के भाई और पिता ने प्रेमी के साथ गाली गलौच करते हुए मारपीट की। मारपीट के दौरान प्रेमी युवक को सिर में प्रेशर कूकर मारा तो वहीं हवा भरने का पंप मारकर उसे मौत के घाट उतार दिया। युवक की मौत होने के बाद उसे मुनगा गांव के समीप रेलवे पटरी पर रख दिया। ट्रेन के कारण प्रेमी का सिर एवं धड़ अलग-अलग हिस्सों में बंट गया। इस मामले में पुलिस ने दोनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है।

एएसपी नीरज सोनी ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि देहात थाना क्षेत्र के बीजागोरा निवासी प्रेमचंद पिता दिगम्बर चन्द्रवंशी उम्र 24 साल का शव 14 मई की सुबह मुनगा रेलवे पटरी पर दो हिस्सों में मिला था। इस दौरान पुलिस को संदेह हुआ। संदेह पर मामले की जांच की गई तो पाया कि मृतक प्रेमचंद की हत्या की गई है।

हत्याकांड की जांच करते हुए टीआई अर्चना सिंह, एसआई टीआर मिरचुले, एएसआई गणेश प्रसाद मिश्रा, प्रधान आरक्षक भूपेन्द्र सोनी, दुरकसिंग, आरक्षक अशोक, चालक नृत्यकिशोर ने जब इस मामले में मृतक प्रेमचंद के दोस्तों से बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि 13 मई की रात में प्रेमचंद एवं उसके दोस्त सिंगोड़ी शादी में शामिल होने के लिए गए थे। शादी होने के बाद दोस्तों ने प्रेमचंद को सिरेगांव में रहने वाली प्रेमिका के घर के पास छोड़ दिया था। पूछताछ के बाद संदेह के आधार पर जब प्रेमिका के भाई शुभम उर्फ निहाल पिता यशवंत सूर्यवंशी उम्र 23 साल ने हत्या की बात कबूली। इस मामले में तत्काल ही पुलिस ने शुभम को गिरफ्तार करने के बाद हत्याकांड में शामिल उसके पिता यशवंत को भी गिरफ्तार किया। पुलिस ने दोनों आरोपितों के खिलाफ हत्या सहित अन्य धाराओं के तहत अपराध कायम किया।

प्रेशर कूकर मारकर की हत्या

इस मामले में टीआई अर्चना सिंह ने बताया कि 13 मई की रात प्रेमचंद को जैसे ही प्रेमिका के घर के पास देखा गया तो आरोपी यशवंत एवं उसके पुत्र शुभम्‌ ने मारपीट शुरू कर दी। मारपीट के दौरान आरोपितों ने गुस्से में आकर प्रेशर कूकर एवं हवा भरने के पंप सहित लकड़ी से हमला करते हुए प्रेमचंद को मौत के घाट उतार दिया गया। प्रेमचंद की मौत होने के बाद दोनों आरोपितों ने हत्या का साक्ष्य छिपाने के लिए शव को मुनगा गांव के समीप रेलवे पटरी पर रख दिया था। इस बीच रात में रेलवे लाइन से गुजरने वाले इंजन के पहिए के नीचे आकर प्रेमचंद का शव दो हिस्सों में बंट गया।

4 साल से चल रहे थे प्रेम संबंध

पुलिस द्वारा मामले की जांच की गई तो पुलिस ने पाया कि पिछले चार साल से प्रेमचंद एवं सिरेगांव निवासी 19 साल की युवती के बीच प्रेम संबंध थे। इस प्रेम संबंध के चलते आए दिन दोनों की मुलाकात होती रहती थी। इस बात की जानकारी आरोपितों को भी थी। आरोपितों द्वारा प्रेमचंद को कई बार समझाइश दी गई थी। प्रेमिका ने भी पूछताछ के दौरान पिता एवं भाई द्वारा की गई मारपीट की बात पुलिस को बताई थी।