दस दिन बाद भी नहीं चालू हो पाई बीएसएनएल की संचार सेवाएं

बीएसएनएल की संचार सेवा हुई ठप, उपभोक्ता परेशान

चावलपानी, तामिया। छिंदवाड़ा के तामिया के चावलपानी में भारत संचार निगम लिमिटेड का नेटवर्क दुरुस्त नहीं होने के कारण दसवें दिन भी इंटरनेट सेवाएं ठप रहीं। दिनभर उपभोक्ता परेशान होते रहे। जानकारी के अनुसार चावलपानी में बीएसएनएल की नोकिया कंपनी की नई बीटीएस लगने के कारण भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) की मोबाइल व ब्रांडबैंड नेटवर्क सेवाएं बंद हो गई है। दस दिन बीत जाने के बाद भी मोबाइल संचार सेवाएं बंद है। जिनका मोबाइल फोन कनेक्ट भी हुआ तो पूरी बात नहीं हो पाई। बीएसएनएल के अधिकारियों के मुताबिक चावलपानी में पुराने बीटीएस को हटाकर नोकिया कम्पनी के नए बीटीएस लगाए जा रहे है। जिसे एक दिन पूरा बीटीएस टावर से नीचे उतारने में लग गया। भोपाल से नोकिया कंपनी का इंजीनयर आए भी, लेकिन झिरपा और मटकुली में बीच में जिओ कंपनी के कर्मचारी के द्वारा लाइन काटने के कारण ऑटकिल फाइबर केबल (ओएफसी) कई जगह से कट गई है। इस कारण नेटवर्क पूरी तरह गड़बड़ा गया है। पहले भी यहां केबल कट गई थी, जिसे ठीक करवा दिया गया था। फिर वहीं समस्या सामने आ रही है। नेटवर्क गड़बड़ाने से गुरूवार से बंद बीएसएनएल का नेटवर्क शुक्रवार तक चालू नहीं हो सका। इसी के चलते बीएसएनएल मोबाइल फोन उपभोक्ता परेशान हो रहे है।

नए बीटीएस लगने से बढ़ जाएगी नेट की स्पीड

उपभोक्ताओं हाई स्पीड इंटरनेट देने के लिए कंपनी बीटीएस (मोबाइल टॉवर) में तकनीकी बदलाव कर रही है। बीटीएस जेडटीई सॉफ्टवेयर डाला जा रहा है। अभी तक टॉवर स्पीड के लिए अल्काटेल सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करते आ रहे हैं। जिससे नेट की गति सीमित रहती है। लेकिन जेडटीई से आवश्यकता पड़ते पर इसे बढ़ाया जा सकता है। नेटवर्क में भी कंजेक्शन की समस्या नहीं आती। यहीं वजह है कि पिछले दस दिनों से चावलपानी क्षेत्र में बीएसएनएल की संचार सेवाएं बंद पड़ी है।