गुना। जनआशीर्वाद यात्रा के दौरान यहां पहुंचे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लक्ष्मीगंज में जनसभा के दौरान कांग्रेस पर जमकर कटाक्ष किए। उन्‍होंने कांग्रेस नेताआें द्वारा उन पर लगाए गए कथित आरोपों और बयानों पर कांग्रेस को आड़े हाथों लिया।

कांग्रेस के आरोपों पर सीएम ने कहा कि कांग्रेसी बोल रहे हैं कि शिवराज तो वैश्या है। इस पर मैं सोनिया गांधी और राहुल गांधी से पूछना चाहता हूं कि क्‍या कांग्रेस के यही संस्कार हैं। मेरे लिए तो वैश्या गाली नहीं है, बल्कि मजबूरी की मारी बहनें हैं। मैं उनके पैर धोकर पानी माथे से लगाऊंगा। कांग्रेस ने मुझे वैश्या नहीं कहा, वरन नारी जाति का अपमान किया है।

मुख्यमंत्री ने राघौगढ़ में कहा कि मेरे लिए राघौगढ़ लकी है, यहां से चुनाव हारने के डेढ़ साल बाद ही मैं सीएम बन गया था। मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस मुझ पर लगातार आरोप लगाती जा रही है। पहले मुझे नालायक कहा, तो आप (जनता) ही बताओ मैं नालायक हूं। इसके बाद कांग्रेसियों ने मुझे मदारी कहा, तो मैंने मान लिया कि मैं मदारी हूं। क्योंकि मैंने डमरू बजाया तो बिजली का बिल जीरो हो गया। बच्चों की फीस भर दी गई, गरीबों को पक्का मकान और जमीन के पट्टे का मालिक बन गया।

उन्होंने प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को भी सवालों के घेरे में लिया। सीएम ने कहा कि कांग्रेस ने सड़कों में गड्ढे, बिजली के बदले अंधेरा और शिक्षकों को शिक्षाकर्मी बना दिया। बच्चों का भविष्य खराब कर दिया, लेकिन भाजपा सरकार ने बच्चों की पढ़ाई की जिम्मेदारी उठाई, शिक्षाकर्मियों को शिक्षक का गौरव लौटाया।

नीबू-मिर्ची की माला डालने वाले क्या जानें कैसे उगती है मिर्ची

इससे पहले मुख्यमंत्री ने म्याना में हुई सभा में क्षेत्रीय सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और राहुल गांधी का नाम लिए बिना कटाक्ष किया कि दिल्ली में बैठने वाले और नीबू-मिर्ची की माला डालने वाले क्या जानें! मिर्ची आड़ी लगती है या खड़ी। लेकिन बात किसानों की करते हैं, जबकि भाजपा सरकार ने अन्नदाता को हर तरह से मजबूत बनाने का काम किया है।

चरण धोकर पीने का बयान सिर्फ महिमामंडन

वैश्याओं के चरण धोकर पीने जैसे बयान उनका महिमामंडन करना है। राज्य को वैश्यावृत्ति को रोकना चाहिए। अगर राज्य की यही सोच है तो पीटा एक्ट में बंद महिलाओं को जेलों से रिहा कर सरकार को उन्हें सरकारी नौकरी देने का इंतजाम करना चाहिए।

- भूपेंद्र गुप्ता, उपाध्यक्ष, मीडिया विभाग, मप्र कांग्रेस कमेटी