सिग्रामपुर। नईदुनिया न्यूज

सोमवार को कलेक्ट्रेट में किसान सम्मेलन का आयोजन किया गया था। जिसमें जिले भर से किसानों को बुलाया गया था और कृषि से संबंधित जानकारी दी गई थी। कार्यक्रम में प्रदेश के वित्तमंत्री जयंत मलैया के साथ कलेक्टर की भी मौजूदगी थी। सम्मेलन में पहुंचने के लिए शासन स्तर से बस की सुविधा की गई थी। सिग्रामपुर क्षेत्र के कुछ किसानों ने अव्यवस्थाओं के चलते अपनी नाराजगी जाहिर की है। किसान मुलायम चंद जैन, सुख सिंह ठाकुर, बद्री साहू, इंदर ठाकुर, ओंकार पटेल, प्रेम सिंह मालगुजार सिंग्रामपुर, विनोद आदिवासी, तिलकमा, दौलत पटेल, कारे सिंह, खेमचंद राय, कजईं, गुलाब सिंह आदि ने बताया कि ने बताया कि ग्राम सेवक केएल चौरसिया के द्वारा कार्यक्रम में शामिल होने के लिए बस से पहुंचाया गया था। दमोह पहुंचने के बाद किसान कार्यक्रम में शामिल हुए और शासन द्वारा दी जाने वाली जानकारियों के बारे में सुना। जब कार्यक्रम समाप्त हो गया और किसान बस के पास पहुंचे तो बस वहां से गायब थी। पता करने पर चला कि बस तो चली गई। जिससे गुस्साए किसानों ने अपनी नाराजगी ग्राम सेवक पर निकाली और कलेक्टर व एसडीएम को जानकारी दी। जानकारी देने के तकरीबन तीन घंटे बाद शाम पांच बजे बस बुलाई गई इसके बाद किसान वापस अपने गांव पहुंचे।