तेंदूखेड़ा नईदुनिया न्यूज। शादी विवाह के समय घर में चारों ओर खुशी का माहौल रहता है। इस समय चाहे वर पक्ष हो या वधू पक्ष शुभ कार्य में पैसों की परवाह नहीं करता। इसलिए बैंडवालों को जरूर बुलाता है जिससे जहां तक बैंड की आवाज जाए लोगों को पता लग जाए कि आज उनके घर में शादी है, लेकिन यदि बैंडवालों को न्यौछावर के समय नकली नोट दे दिए जाएं तो उनकी क्या हालत होगी।

ऐंसा ही मामला शनिवार को देखने मिला। जब एक युवक ने बाइक में पेट्रोल डलाकर कर्मचारी को पैसे दिए। उसने गौर से देखा तो वह नकली नोट था। जिस व्यक्ति ने नोट दिया था उसने कहा कि उसे यह नोट शादी घर से मिल हैं। शनिवार की दोपहर दो युवक नगर के एक पेट्रोल पंप पर पेट्रोल डलाने पहुंचे जहां उन्होंने बाइक में पेट्रोल डलाने के बाद कर्मचारी को सौ रुपए का नोट दिया।

पहले से धोखा खाए कर्मचारी ने नोट को गौर से देखा तो वह नकली निकला। कर्मचारी ने दोनों युवकों को पकड़ा और कहा कि यह तो नकली नोट है कहां से लाए हो। तब उन युवकों ने बताया है वह बैंड बजाने वाले हैं आज एक शादी में गए थे, जब लोग पैसे न्यौछावर करने लगे तो जमकर बैंड बजाया, लेकिन बाद में नोट नकली निकला।

जैसे ही उन्हे पता चला कि यह नकली नोट है तो बैंडवाले कहने लगे कि हम धोखा खा गए और कर्मचारी को असली नोट देकर चले गए। पेट्रोल पंप पर काम करने वाले कर्मचारी ने बताया कि दो युवकों ने जो सौ का नोट दिया था उसका कागज बिल्कुल साधारण था। साथ ही उसमें महात्मा गांधी की फोटो नहीं बनी थी। इसी तरह मुकेश घोषी ने बताया कि पहले भी दो, चार नोट हमारे पास आए जो नकली निकलें। उनमें दो सौ का नोट भी नकली था।