दतिया। शहर के होटल तान्या पैलेस में सोमवार को होटल संचालक दीपक सचदेवा द्वारा आयोजित कराए गए कन्याभोज में प्रसादी ग्रहण करने के बाद तबियत बिगड़ने पर करीब 40 छात्र-छात्राओं को मंगलवार को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। अस्पताल में भर्ती छात्र-छात्राओं की हालत में सुधार नहीं है।

मामला जानकारी में आने पर कलेक्टर वीरेन्द्र सिंह रावत ने बुधवार को एसडीएम राकेश परमार को छात्राओं की हालत जानने जिला अस्पताल भेजा। एसडीएम परमार ने सीएमएचओ डॉ. प्रदीप उपाध्याय को सभी बीमार छात्र-छात्राओं का इलाज ठीक से कराने के निर्देश दिए।

साथ ही तान्या होटल की किचन का मुआयना कर सैंपलिंग करवाई। दरअसल होटल में प्रसादी खाने से बीमार हुए छात्र-छात्राएं राजघाट तिराहा बस्ती निवासी व कलेक्ट्रेट के पास स्थित पोस्ट मेट्रिक कन्या छात्रावास की छात्राएं हैं। सीएमएचओ डॉ. प्रदीप उपाध्याय के मुताबिक फूड प्वाइजनिंग के कारण बीमार हुई छात्र छात्राओं को स्वस्थ होने में दो-तीन दिन लगेंगे।

कन्या छात्रावास की छात्राएं बोली-अधीक्षका ने भेजा था कन्याभोज में

तान्या होटल में कन्याभोज में प्रसादी खाने से बीमार हुई छात्राओं खुशूब पाल, रीना राजपूत ने एसडीएम को बताया कि वह छात्रावास अधीक्षिका रश्मी त्रिपाठी के कहने पर प्रसादी ग्रहण करने गई थी। छात्राओं ने बताया कि उन्होंने सोमवार की शाम खीर पूड़ी, बूंदी आदि प्रसादी ग्रहण की थी।

इनका कहना है

फूड प्वाइजनिंग का मामला है। अस्पताल में भर्ती सभी बीमार छात्राओं का स्वास्थ्य हाल जानने के बाद तान्या होटल का किचन चेक किया। किचन में खुली हालत में मिली सामग्री पनीर, मावा, तेल की जांच के लिए फूड इंस्पेक्टर से सैंपलिंग कराई है। छात्रावास की छात्राएं कन्याभोज में कैसे पहुंची, इस मामले की भी जांच कराई जा रही है।

राकेश परमार, एसडीएम दतिया