फोटो 12 कार्यवाही करती लोकायुक्त टीम

दतिया। नईदुनिया प्रतिनिधि

लोकायुक्त ग्वालियर की टीम ने मंगलवार शाम हायर सेकंडरी स्कूल क्रमांक 2 में पदस्थ बाबू को 5 हजार रूपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा। बाबू फरियादी के पिता से एरियर का पैसा पास कराने के लिए 10 हजार रूपए की मांग 15 दिन से कर रहा था।

लोकायुक्त निरीक्षक आराधना डेविस ने बताया कि फरियादी अनूप तिवारी 37 पुत्र राकेश बाबू तिवारी निवासी मुड़ियन के कुआं ने 5 अप्रैल को ग्वालियर लोकायुक्त कार्यालय में शिकायत की थी कि उसके पिता राकेश बाबू तिवारी का एरियर का पैसा पास करने के एवज में हायर सेंकडरी स्कूल क्रमांक 2 ठंडी सड़क में पदस्थ लिपिक चंदप्रकाश श्रीवास्तव पुत्र ज्वाला प्रसाद श्रीवास्तव 10 हजार रूपए की रिश्वत मांग रहा है। शिकायत की पुष्टि करने के बाद आज मंगलवार शाम 6 बजे आरोपी लिपिक को उसके घर से 5 हजार रूपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ लिया। लोकायुक्त टीम की कार्यवाही में आरोपी की लड़की ने बाधा उन्पन्न की तो टीम उसे कोतवाली थाना में ले आई।

पूर्व में सेवानिवृत्त हो चुके शिक्षकों को प्रदेश सरकार ने एरियर का पैसा देने की घोषणा की है। फरियादी अनूप तिवारी के पिता 2 साल पहले शिक्षक के पद से सेवानिवृत्त हो चुके है। उन्हें एरियर का पैसा मिलना है। जिसे स्वीकृत कराने के लिए लिपिक 10 हजार रूपए की मांग कर रहा था। फरियादी शिकायत पर मंगलवार को लोकायुक्त की टीम ने बाबू को उसके घर से 5 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ लिया है। कार्यवाही में शामिल लोकायुक्त टीम में डीएसपी प्रदुम्म पारासर, इंस्पेक्टर आराधना टेविस, इंस्पेक्टर राजीव गुप्ता, हैड कास्टेबल धनजंय पांडेय, जशवंत सिंह, सुरेन्द्र सेमिल, बलबीर सिंह आदि शामिल रहे।