कहीं बंद मिले स्कूल तो कहीं बच्चे कर रहे थे स्कूल खुलने का इंतजार

दतिया। नईदुनिया प्रतिनिधि

राज्य शिक्षा केन्द्र भोपाल के द्वारा चलाए जा रहे जयफुल लर्निंग गतिविधि आधारित कार्यक्रम का निरीक्षण डीपीसी अशोक त्रिपाठी ने विकास खण्ड सेंवढा के दर्जन भर स्कूलों में निरीक्षण कर किया। इस दौरान शासकीय माध्यमिक विद्यालय नेतुआपुरा सुबह 8.30 बजे बंद मिला। बच्चे स्कूल के बाहर खडे होकर शिक्षक का इंतजार कर रहे थे। प्राथमिक बालक इन्दरगढ में एक भी बच्चें उपस्थित नहीं मिले एवं शिक्षक को जयफुल लर्निंग गतिविधि के संबंध में जानकारी नहीं थी।

प्राथमिक विद्यालय दोहर समय सुबह 8.45 बजे ताला लगा था। साधना गुप्ता प्रधानाध्यापक के आने का इंतजार कर रही थी। प्राथमिक विद्यालय पहाडी रावत सुबह 9.00 बजे विद्यालय बंद मिला। प्राथमिक विद्यालय जसवंतपुर में प्रधानाध्यापक के अलावा शेष शिक्षक अखिलेश कुमार जाटव, नरेन्द्र सिंह धाकड अनुपस्थित मिले। प्राथमिक एवं माध्यमिक विद्यालय जौनिया सुबह 9.30 बजे बंद मिला। मावि जौनिया में जयफुल लर्निंग के तहत कोई गतिविधि नहीं कराई जा रही थी बच्चों की उपस्थिति शून्य थी। प्राथमिक विद्यालय सेंथरी में जयफुल लर्निंग की गतिविधि नहीं कराई जा रही थी और न ही उपस्थित स्टाफ को जयफुल लर्निंग की जानकारी थी। आनंद कुमार एवं अशोक कुमार शर्मा अनुपस्थित पाए गए। माध्यमिक विद्यालय सेंथरी में दर्ज 106 में बच्चें उपस्थित मिले। शिक्षकों द्वारा नियमित रूप से जयफुल लर्निंग के तहत मूल दक्षता का अभ्यास नहीं कराया जा रहा है। प्राथमिक विद्यालय पहाडी सुबह 10.10 बजे बंद मिला। माध्यमिक विद्यालय टोडा में राजेश कुमारी सोलंकी हस्ताक्षर विद्यालय से समय पूर्व चली गई थीं बच्चें उपस्थित नहीं मिले। प्राथमिक विद्यालय टोडा में बच्चों की उपस्थिति अत्यंत न्यून थी कोई गतिविधि विद्यालय में नहीं कराई जा रही थी । ऐसे विद्यालय जो बंद पाए गए एवं जहां शिक्षक अनुपस्थित मिले एवं ऐसे विद्यालय जहां गतिविधियां पूर्णरूपेण निर्देशों के अनुसार नहीं कराई जा रही हैं संबंधित विकासखण्ड के बीआरसीसी, बीएसी, जनशिक्षकों एवं संबंधित संस्था के संस्था प्रधान को कारण बताओं नोटिस जारी किए जाएंगे।