देवास। मक्सी-देवास के बीच रेलवे ट्रेक में वर्षों पुरानी खामियां दूर कर ली गई हैं। जल्द ही धीमी गति से चलने वाली ट्रेनें सरपट दौड़ती नजर आएंगी। इसके बाद ट्रेनें समय से मक्सी पहुंचेगी।

देवास स्टेशन से प्रतिदिन 50 यात्री सवारी गाड़ी गुजरती हैं। मक्सी-देवास के बीच इनकी स्पीड धीमी हो जाती है। इसका असर ट्रेनों की टाइमिंग पर पड़ता है। साथ ही बीच में क्रॉसिंग होने से यात्रियों को भी परेशान होती है। देवास-मक्सी के बीच रेलवे ट्रेक में खराबी थी, जिसे दूर कर लिया गया है। इसके बाद जल्दी ही इस सेक्शन में ट्रेनों की स्पीड बढ़कर 100 किमी प्रति घंटा या उससे ऊपर पहुंच जाएगी।

महीने के अंत में होगा ट्रायल

मक्सी-देवास के बीच अभी ट्रेनों की स्पीड लगभग 70-75 किमी प्रति घंटा रहती है। 100 किमी प्रति घंटा करने के लिए महीने के अंत में ट्रायल लिया जाएगा। सही रहने पर स्पीड पर लगी पाबंदी हटा ली जाएंगी।

25 से 30 मिनट घटेगी भोपाल की दूरी

रेलवे के अनुसार फिलहाल मक्सी-देवास की 35 किमी की दूरी तय करने में लगभग 40 मिनट का समय लगता है। स्पीड बढ़ने के बाद मक्सी से देवास की दूरी तय करने में 25 मिनट लगेंगे। इसी तरह इंदौर से भोपाल जाने वाली रेलों का समय में 25 से 30 मिनट की कमी आएगी।

काली मिट्टी के कारण आ रही थी परेशानी

देवास-मक्सी के बीच काली मिट्टी होने से ट्रैक का फॉरमेशन कमजोर था। साथ ही ट्रैक भी करीब 55 साल पुराना था। रेलवे ने यहां बेस मजबूत कर पटरियां बदली है। इसके कारण अब पुरानी समस्या पूरी तरह से दूर हो गई है।

महीने के अंत में होगा ट्रायल

'ट्रेक में खराबी थी वो सुधर गई है। महीने के अंत में ट्रायल होगा। इसके बाद गाड़ियों की स्पीड 100 किमी प्रति घंटा हो जाएगी और गाड़ियों की टाईमिंग सही हो जाएगी। इससे सवारियों की परेशानियां दूर होंगी।' - एलएल डाबी, स्टेशन अधीक्षक