बंजर जमीन भी होगी हरियाली से आच्छादित

बारिश से पहले पूरे जिले की सभी रेंजों में होगा बीजारोपण

वन विभाग जापानी पद्धति से तैयार करवा रहा खाद-बीजयुक्त मिट्टी के गोले

सुंद्रेल-बिजवाड़। वन विभाग जापानी पद्धति से बंजर जमीन को हरियाली से आच्छादित करने की दिशा में आगे बढ़ रहा है। इसके लिए जापानी पद्धति से बीजारोपण की प्रक्रिया शुरु की जा रही है। पहली बार इसका प्रयोग बिजवाड़-पानीगांव रेंज में किया जा रहा है। यदि यह प्रयोग पूरी तरह से सफल रहा तो हरियाली के लिए कम खर्च में क्रांतिकारी परिवर्तन देखने को मिलेंगे। यह पद्धति जापान में कारगर साबित हुई है। वन विभाग को उम्मीद है कि यह पद्धति देवास जिले में भी कामयाब रहेगी।

मुख्य वन संरक्षक भोपाल व जिला वन संरक्षक पीएन मिश्रा के मार्गदर्शन में बिजवाड़-पानीगांव रेंज में बीजारोपण की जापानी पद्धति का नूतन प्रयोग किया जा रहा है। इस पद्धति से मिट्टी में देशी खाद, एंटी फंगस दवाई के साथ देशी खेर, नीम, सुबबूल सहित अन्य प्रजातियों के बीजों को मिक्स किया जा रहा है। टाइट घोल तैयार होने पर इन्हें मिक्सर से निकालकर मजदूरों से गोले बनवाए जा रहे हैं। इन गोलों को धूप में कुछ समय के लिए सुखाया जा रहा है। पूरी तरह से सूखने के बाद इन बीजयुक्त गोलों को सुरक्षति संग्रहित किया जाएगा। ये ही गोले आगामी दिनों में गुणवत्तायुक्त पौधों का तैयार करेंगे।

एक लाख गोले बनाए जा रहे हैं

रेंज अधिकारी डीएस चौहान ने बताया इस पद्धति को शीट बॉल पद्धति कहा जाता है। मिट्टी के गोलों में खाद, दवाई पहले से ही मौजूद रहने से बीज की गुणवत्ता बनी रहती है। फिलहाल तो ये गोले सूखाकर सुरक्षति रखे जा रहे हैं। बारिश होने के साथ ही जहां-जहां बीजारोपण करना है, वहां गड्डा खोदकर इन गोलों को जमीन में गाड़ दिया जाएगा। कुछ ही दिनों में इन गोलों में मिक्स बीज अंकुरित होने लगेंगे। चौहान ने बताया ये पद्धति बंजर जमीन में भी काफी सिद्ध व सफल होती है। जापान में इसी पद्धति से पौधारोपण किया जाता है। यहां पर एक लाख गोले बनाए जा रहे हैं। इनके माध्यम से पूरे जिले की सभी रेंजों में बीजारोपण किया जाएगा। यदि यह प्रयोग सफल होता है तो फिर वन विभाग में पौधारोपण की जगह बीजारोपण ही किया जाएगा। कम खर्च में यह प्रयोग वन विभाग के लिए रामबाण साबित होगा। बिजवाड़ रेंज परिसर में यह बीज तैयार किया जा रहा है।

21 एसएनडी 02ः बिजवाड़ रेंज में पद्धति के बारे में जानकारी देते हुए रेंज अधिकारी चौहान।