-रोहिणी नक्षत्र में और भी तपेगा मालवा-निमाड़

-अप्रैल में तापमान पहुंचा था 44.5 डिसे पर

धार। नईदुनिया प्रतिनिधि

जिले में भीषण गर्मी का दौर जारी है। मंगलवार को तापमापी का पारा 42.5 डिसे पर जा पहुंचा। इस माह में इस तरह की गर्मी पहली बार पड़ी है। दरअसल फणि तूफान आने के कारण तापमापी का पारा कई दिनों तक सामान्य ही रहा जबकि अप्रैल में भीषण गर्मी पड़ी थी। अप्रैल के अंतिम सप्ताह में तापमान 44.5 डिसे पर पहुंच गया था। मई के 21 दिनों में मंगलवार को ही सर्वाधिक गर्मी पड़ी। मंगलवार को तापमान 42.5 पर पहुंचा तो सभी परेशान हो गए। इधर 25 मई से नवतपा की शुरुआत होगी। ऐसे में माना जा रहा है कि लोगों को और भी बेचैन कर सकती है गर्मी।

गौरतलब है कि पिछले कुछ सालों से मई में तपन कम रह रही है जबकि अप्रैल में गर्मी अधिक पड़ रही है। इस बार भी इसी तरह के हालात बने। तापमान 44 के ऊपर अप्रैल में ही पहुंचा। आमतौर पर गर्मी के लिए विशेष रूप से मई-जून का नाम लिया जाता है लेकिन मई में प्रथम पखवाड़े में तो स्थिति सामान्य रही। माना जा रहा है फणि तूफान के कारण अचानक से मौसम सामान्य हो गया था। वहां से चली हवाओं के कारण मौसम में बदलाव हुआ है, लेकिन अब फिर गर्मी का दौर शुरू हो चुका है, लोग चाहते भी हैं कि इस तरह की भीषण गर्मी का दौर जारी रहे। माना जाता है कि गर्मी अधिक पड़ती है तो बारिश बेहतर होती है। मानसून की बेहतरी के लिए सभी कामना कर रहे हैं कि अच्छी स्थिति रहे, वहीं आगामी 25 मई से लेकर 2 जून तक नवतपा रहेगा। सभी यह कामना कर रहे हैं कि जून के प्रथम सप्ताह तक गर्मी का दौर जारी रहे, ऐसी स्थिति में कहीं से भी बेमौसम बारिश के हालात नहीं बनें। दूसरी ओर यह बात भी है कि इस बार मानसून देरी से आएगा। ऐसे में बारिश के लिए थोड़ा सा इंतजार करना पड़ सकता है। इधर मंगलवार को जिस तरह की गर्मी रही उससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा है। अब गर्मी का दौर जारी रहेगा इसलिए लोगों को भी अपनी सेहत का ध्यान रखना होगा, यदि छोटी सी भी लापरवाही की जाती है तो लू लगने की स्थिति है।

21डीएचआर21-धार के जवाहर मार्ग का दोपहर का नजारा, गर्मी के चलते लोग कम ही बाहर निकले।

21डीएचआर22-घर से बाहर निकलने पर लोग इस तरह से गर्मी से बचाव करते हुए नजर आए।

21डीएचआर23-24-धार में गर्मी के कारण लोगों को इस तरह से आवाजाही करना पड़ रही है।