सेंधवा (बड़वानी)। सेंधवा के ग्रामीण इलाके में 5 बच्चों की लाशें कुएं में मिलने से सनसनी फैल गई थी। ये घटना पूरे देश में चर्चाओं में आ गई। पुलिस ने ताबड़तोड़ मामले का खुलासा किया। लेकिन जब सच्चाई सामने आई तो हर कोई हैरान रह गया। पिता ही इन 5 बच्चों का हत्यारा निकला।

आपको बता दें कि सेंधवा के चिकली गांव में एक ही परिवार के 5 बच्चों के शव कुएं में मिले थे। बच्चों की शिनाख्त के बाद उनके अभिभावकों की खोज की गई तो वे गायब मिले। इससे पुलिस का शक पिता भतरसिंह पर सबसे पहले गया। उसकी खोजबीन शुरू की गई तो पिता सेंधवा बस स्टैंड से हिरासत में ले लिया गया। वो महाराष्ट्र भागने की फिराक में था लेकिन उससे पहले ही पुलिस ने उसे धर दबोचा।

पुलिस के मुताबिक आरोपी भतरसिंह मूलतः महाराष्ट्र का रहने वाला है और वह महाराष्ट्र में ही काम करता है। उसकी 2 पत्नियां सुंगीबाई और सुनीता हैं। पहली पत्नी से उसे 4 लड़के हैं जबकि दूसरी पत्नी से 1 लड़का। विवाद के चलते उसकी दोनों ही पत्नियां उसे छोड़कर अपने रिश्तेदारों के यहां रह रही थीं। इससे भतरसिंह बहुत नाराज था।

इसी नाराजगी में भतरसिंह ने अपने पांचों बच्चों की कुंए में फेंककर हत्या कर दी। आरोपी अपनी दोनों पत्नियों को भी मारना चाहता था, लेकिन दोनों ही घर पर नहीं मिली। घटना के बाद जब उसे अपनी गलती का अहसास हुआ तो उसने फांसी लगाकर खुदकुशी करना चाही, लेकिन दम घुटने की घबराहट में वो आत्महत्या नहीं कर पाया। इसके बाद वो महाराष्ट्र भागने की फिराक में था लेकिन उसके पहले ही उसे पुलिस ने पकड़ लिया।

पुलिस अधीक्षक विजय खत्री के मुताबिक हत्यारा दोनों पत्नियों को साथ रखना चाहता था, लेकिन दोनों पत्नियां साथ नहीं रहना चाहती थी। इसी बात पर तीनों में आपस में अक्सर विवाद और झगड़ा होता था। विवाद के चलते ही उसकी पहली पत्नी अपने 4 लड़कों को लेकर मायके चली गई थी, जबकि दूसरी पत्नी भी कुछ समय पहले उसे छोड़कर अपने रिश्तेदार के यहां चली गई।

जानकारी के मुताबिक आरोपी भतरसिंग घटना के एक दिन पहले अपने पांचों बच्चों को लेकर अपने घर आ गया था। बच्चों को लाने के दौरान ही वो अपनी दोनों पत्नियों की हत्या भी करना चाहता था लेकिन पत्नियां उसे चकमा देकर भाग निकली। बाद में भतरसिंह ने अपने पांचों बच्चों संदीप, प्रदीप, रंदीप, सहादर उर्फ राजेश और रोहित को कुएं में डूबोकर उनकी हत्या कर दी।