बीनागंज(गुना)। पूर्व राज्य मंत्री शिवनारायण मीना का बुधवार को रुद्रप्रयाग में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। गुरुवार को उनके गांव कीताखेड़ी में अंतिम संस्कार किया जाएगा।

जानकारी के अनुसार करीब 12 दिन पहले वे रुद्रप्रयाग की यात्रा पर गए थे। वहां 12 जून को भंडारा कराने के बाद उन्हें वापस आना था, लेकिन सुबह करीब 7 बजे उन्हें दिल का दौरा पड़ गया और उनका निधन हो गया। वे अपने पीछे भरा पूरा परिवार छोड़ गए।

उनके निधन की सूचना मिलते ही गुना और राजगढ़ जिले में शोक छा गया। उनका पार्थिव शरीर उनके गृहग्राम कीताखेड़ी लाया जा रहा है। जहां गुरुवार को अंतिम संस्कार होगा। इसमें प्रदेश के वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं के शामिल होने की संभावना है।

दिग्विजय के लिए खाली की थी सीट

शिवनारायण मीना ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरूआत 1977 से की थी। उन्होंने विधायक का पहला चुनाव लोकदल से लड़ा था। जिसमें हार गए थे। बाद में कांग्रेस ज्वाइन कर ली थी। फिर बीनागंज मंडी अध्यक्ष बने थे। 1993 में वे कांग्रेस के टिकट पर चांचौड़ा विधानसभा क्षेत्र से विधायक चुने गए थे, लेकिन जब दिग्विजय सिंह मुख्यमंत्री बने, तो उनके लिए मीना ने सीट खाली कर दी थी। फिर वे मप्र कृषि विकास निगम के चेयरमैन बने। 1998 में वे पुन: विधायक बने और तब दिग्विजय सरकार में पशुपालन राज्य मंत्री बनाए गए। तब वे गुना जिले के प्रभारी मंत्री भी बने थे। मीना ने निजी वाहन पर कभी हूटर और नेम प्लेट नहीं लगवाई।