Naidunia
    Saturday, April 21, 2018
    PreviousNext

    डिलेवरी के दौरान बच्चेदानी की थैली फटी, महिला को दो युवकों ने रक्तदान कर बचाया

    Published: Thu, 15 Mar 2018 04:08 AM (IST) | Updated: Thu, 15 Mar 2018 04:08 AM (IST)
    By: Editorial Team

    डिलेवरी के दौरान बच्चेदानी की थैली फटी, महिला को दो युवकों ने रक्तदान कर बचाया

    -चौथी डिलेवरी के लिए लाया गया था जिला अस्पताल, बच्चादानी निकालनी पड़ी

    गुना। नवदुनिया प्रतिनिधि

    जिला अस्पताल में प्रसूति के लाई गई एक महिला की बच्चादानी की थैली डिलेवरी के दौरान फट गई। इससे बच्चे की मौत हो गई और महिला का ब्लड 2.2 प्रतिशत रहा गया। महिला की जान बचाने खून चढ़ाने के अलावा कोई और चारा नहीं था, वहीं ब्लड बैंक में ओ निगेटिव रक्तसमूह उपलब्ध नहीं था। ऐसी स्थिति में महिला की जान दो युवकों द्वारा रक्तदान कर बचाई गई।

    सीएमएचओ डॉ. रामवीर सिंह रघुवंशी ने बताया कि महिला सपना मीना पत्नी रामस्वरूप मीना निवासी कमलापुर चांचौड़ा को मंगलवार के दिन परिजन डिलेवरी के लिए जिला अस्पताल लाए थे। महिला की चौथी डिलेवरी थी। डिलेवरी के दौरान महिला की बच्चादानी की थैली फट गई और बच्चे की मौत हो गई। महिला के शरीर में खून की भी कमी आ गई। डॉ. आभा शर्मा ने महिला को चार यूनिट खून की आवश्यकता बताई, लेकिन ब्लड बैंक में ओ निगेटिव रक्तसमूह दो यूनिट ही था। इस पर ब्लड बैंक के कर्मचारी पवन श्रीवास्तव ने बालाजी ब्लड बैंक सेवा समिति से संपर्क किया और समिति के अभिषेक शर्मा ने अपने दो कार्यकर्ता अर्पित पटेल तथा शहादत खां को रक्तदान के लिए भेजा, इस तरह महिला की जान बचाई गई। हालांकि महिला की बच्चादानी को ऑपरेशन कर निकाला गया। सिविल सर्जन एसपी जैन भी इस दौरान पूरे समय मौजूद रहे। महिला की सास ने बताया कि महिला की यह चौथी डिलेवरी थी, पूर्व में महिला के हुए दो बच्चे मृत हो चुके है। एक ढाई वर्ष की बेटी है।

    नोट-फोटो केप्शन

    1403जीएन-09-गुना। बच्चादानी ऑपरेशन के बाद सपना को मेटरनिटी वार्ड में किया गया भर्ती।

    और जानें :  # guna news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें