ग्वालियर। किसी से मिले नंबर के आधार पर छतरपुर नौकरी की तलाश में पहुंची 20 वर्षीय बीएससी की छात्रा को वहां बंधक बना लिया और पिस्टल अड़ाकर एक युवक ने दुष्कर्म किया। घटना 11 अप्रैल रात 11.30 बजे विश्वनाथ कॉलोनी छतरपुर की है। छात्रा के कमरे में अगले दिन एक नया युवक आया। उसने उसे यहां से बाहर निकालने में मदद करन का वादा किया और उससे फिर दुष्कर्म किया। इसके बाद वह भी भाग गया। किसी तरह छात्रा वहां से भागकर वह झांसी पहुंची।

छात्रा का कहना है कि झांसी में भाजपा सांसद उमा भारती का कोई कार्यक्रम था वह वहां पहुंची। वहां कुछ लोगों ने उसकी मदद की और ग्वालियर तक पहुंचाया। सोमवार को पीड़िता महिला थाने पहुंची। पहले पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया। पर एसपी के हस्तक्षेप के बाद आरोपियों के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज किया गया है।

जनकगंज स्थित गोल पहाड़िया इलाके में रहने वाली 20 वर्षीय सलोनी (परिवर्तित नाम) बीएससी की छात्रा है। कुछ दिन से घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने पर उसे नौकरी की जरूरत थी और वह कंसलटेंसी ऑफिस में चक्कर लगा रही थी। इसी दौरान उसे टैक्सी में एक महिला मिली। उसने एक मोबाइल नंबर देते हुए छतरपुर में 100 फीसदी नौकरी लगवाने का दावा किया। 10 अप्रैल को छात्रा ने कॉल किया तो किसी संतोषी तिवारी नामक महिला ने कॉल रिसीव किया।

उसने छात्रा को अगले दिन छतरपुर आने और एक अच्छी नौकरी दिलवाने की बात कही। 11 अप्रैल को छात्रा सुबह 8.30 बजे छतरपुर के लिए निकली। शाम 5.30 बजे वह छतरपुर बस स्टैंड पर पहंुची। यहां से उसने फिर उसी नंबर पर कॉल कर बताया कि वह आ गई है। जिस पर महिला ने एक युवक को बाइक से लेने के लिए भेजा। जिसका नाम रक्कू था। वह उसे छतरपुर की विश्वनाथ कॉलोनी मंे महिला के घर ले गया।

रात होते ही कमरे में आया युवक, किया दुष्कर्म

छात्रा ने बताया कि जब वह महिला के घर पहुंची तो संतोषी नामक महिला ने कहा कि आज का दिन तो निकल गया। कल आपका इंटरव्यू कराएंगे। जब तक आप यहीं दूसरी मंजिल पर रूम में रह सकती हो। उसने मेरे लिए कमरे की व्यवस्था कर दी। मैं अपने कमरे में थी तभी रात 11.30 बजे किसी ने गेट खटखटाया। गेट खोला तो एक युवक खड़ा था। उसके हाथ में पिस्टल थी। पीछे वही महिला खड़ी थी। युवक कमरे घुस आया। मैंने पूछा मैडम यह कौन है तो वह बोली जो करना चाहे करने देना नहीं तो बहुत खतरनाक है। युवक का नाम महिला मुश्ताक भाई ले रही थी। इसके बाद उसने पिस्टल अड़ाकर मेरे साथ दुष्कर्म किया। सुबह मैंने घर जाने के लिए कहा तो मुझे बंद कर दिया।

अगले दिन फिर दुष्कर्म

इसके बाद अगले दिन 12 अप्रैल को मैडम तो कहीं गई थीं। पर जो लड़का मुझे बस स्टैंड से लेकर आया था रक्कू वह आया। उसने मुझसे कहा कि मैं यहां से निकाल सकता हूं। पर कीमत चुकानी पड़ेगी। मैंने मना किया तो उसने जबरदस्ती दुष्कर्म किया। इसके बाद वह चला गया, लेकिन कुंडी नहीं लगाई। इसके बाद मैं बाहर निकली और वहां कुछ लड़कियां थीं, लेकिन मैं किसी तरह भाग निकली।

झांसी में सांसद की टीम ने की मदद

इसके बाद बस पकड़ी और झांसी पहुंची। यहां झांसी में सांसद उमा भारती का कार्यक्रम चल रहा था। वहां मदद के लिए पहुंची। यहां उनकी टीम ने छात्रा की मदद की और एक व्यक्ति उसे ग्वालियर तक छोड़कर गया। इसके बाद डरी सहमी छात्रा सोमवार को महिला थाने पहुंची। यहां पहले तो पुलिस ने मामला दर्ज करने से इनकार कर दिया। इसके बाद जब कुछ लोगों ने एसपी डॉ. आशीष को सूचना दी। जिसके बाद एसपी ने तत्काल एफआईआर के निर्देश दिए। जिसके बाद मामला दर्ज कर लिया गया है।