Naidunia
    Wednesday, January 24, 2018
    PreviousNext

    संकट में काम आए वही सच्चा मित्रःआचार्य ब्रजकिशोर

    Published: Thu, 10 Aug 2017 03:49 AM (IST) | Updated: Thu, 10 Aug 2017 03:49 AM (IST)
    By: Editorial Team

    फोटो मेल से----

    ग्वालियर। नईदुनिया प्रतिनिधि

    सच्चा मित्र वही होता है जो अपने मित्र के संकट के समय काम आए। इतना ही नहीं जो भी बुद्धिमान हो उसे जतन करने के भी मित्र बनाना चाहिए। यह विचार आचार्य ब्रजकिशोर शास्त्री ने दंदरौआ धाम दीनदयाल नगर में चल रही भागवत कथा में अंतिम दिन बुधवार को प्रवचन देते हुए व्यक्त किए।

    आचार्य ने भगवान श्रीकृष्ण और सुदामा की मित्रता की कथा सुनाते हुए कहा कि मित्रता ऐसा नहीं कि बराबरी वालों में ही हो। मित्रता तो गरीब और राजा में भी हो सकती है, जैसी श्रीकृष्ण और सुदामा के बीच थी। उन्होंने कहा कि मित्र वह है जो संकट के समय अपने मित्र की मदद करे। उन्होंने कहा कि जिससे कोई रिश्ता नहीं हो उसे भी मित्र बनाया जा सकता है। यदि कोई बुद्धिमान व्यक्ति दिख जाए और उससे कोई पहचान भी नहीं है तो जतन कर उसे भी मित्र बनाना श्रेयस्कर है। मित्रता के साथ समरसता के दर्शन भी होते है। भगवान श्रीकृष्ण संकट में सदा अपने मित्र की सहायता करते हैं। उन्होंने बताया कि भगवान श्रीकृष्ण ने नारियों पर जुल्म करने वालों का सर्वनाश कर नारियों की रक्षा की है। उन्होंने भस्मासुर की कथा सुनाते हुए कहा कि भस्मासुर ने 16000 नारियों को कैद किया था, भगवान ने भस्मासुर से नारियों को आजाद कराया।

    और जानें :  # bbbb bbbb
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें