ग्वालियर। नईदुनिया प्रतिनिधि

बेरोजगारी, महंगी बिजली, उखड़ी सड़कें जैसे मुद्दों को लेकर युवा कांग्रेस के कार्यकारी जिलाध्यक्ष की बागडोर मिलने के बाद मितेन्द्र सिंह के नेतृत्व में शुक्रवार को पहला प्रदर्शन हुआ। सभा रानी लक्ष्मीबाई प्रतिमा स्थल के सामने फूलबाग मैदान में हुई और घेराव मोतीमहल में। पुलिस ने बैरीकेड्स लगाकर जोशीले युवाओं के हुजूम को रोकने की कोशिश की, लेकिन उन्होंने बैरीकेड्स ही गिरा दिए। पुलिस लाठियां भांजने को आतुर नजर आई तो युवाओं ने भी चेतावनी दे दी कि यदि ऐसा हुआ तो हालात बिगड़ जाएंगे। आखिर पुलिस ने वाटर कैनन से युवाओं को रोका और गिरफ्तार कर लिया।

यह पूरा घटनाक्रम उसी स्थान पर हुआ जहां जनसमस्याओं को लेकर ही 28 नवंबर 2016 को मितेन्द्र सिंह के पिता शहर जिलाध्यक्ष डॉ. दर्शन सिंह के नेतृत्व में आखिरी प्रदर्शन हुआ था। प्रदर्शन के कुछ देर बाद ही हार्टअटैक से उनकी मौत हो गई थी। बेटे मितेन्द्र सिंह ने पिता से तीन गुना ज्यादा भीड़ ले जाकर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। आंदोलन की चर्चा इसलिए ज्यादा है क्योंकि सुबह से बारिश की झड़ी लगी थी, कांग्रेस गुटबाजी से जूझ रही है, ऐसी स्थिति में इतनी बड़ी तादाद में युवा कार्यक्रम में पहुंचे।

नहीं दिया ज्ञापन, किया गिरफ्तार

युवा कांग्रेस ने मोतीमहल में संभागायुक्त कार्यालय के जनाक्रोश घेराव प्रदर्शन की घोषणा की थी। भारी भीड़ का पुलिस को अनुमान नहीं था। इसलिए कम संख्या में पुलिस बल रहा और बैरीकेड्स भी ज्यादा नहीं लगाए। वरिष्ठ कांग्रेसियों ने कहा कि प्रदर्शन के बाद ज्ञापन दिया जाएगा, लेकिन मितेन्द्र सिंह इसके लिए तैयार नहीं थे। वे गिरफ्तारी देना चाहते थे। इसलिए बैरीकेड्स गिराकर आगे बढ़े तो पुलिस को पानी फेंककर उन्हें रोकने का प्रयास किया। कांग्रेसी सुबह भींगते हुए ही वहां तक पहुंचे थे इसलिए पानी की धार का ज्यादा असर नहीं हुआ। कुलदीप सिंह कौरव, सुनील श्रीवास पप्पू, वीर सिंह यादव, बलवीर सिंह गुर्जर, पंकज शर्मा आगे बढ़े, लेकिन पुलिस अधिकारियों ने भीड़ को रोका और गिरफ्तार करने की घोषणा कर दी। हालांकि थोड़ी देर बाद ही उन्हें सभा स्थल तक ले जाकर छोड़ दिया।

भाजपा को ललकारा

युवा कांग्रेस के कार्यकारी जिलाध्यक्ष मितेन्द्र सिंह ने भाजपा सरकार की नीतियों पर जमकर प्रहार किए। उन्होंने कहा कि राज्य हो या केन्द्र सरकार, रोजगार देने के नाम पर युवाओं से झूठ बोला गया। भर्ती परीक्षा के नाम पर लूटा जा रहा है। प्रदेश में अपराध, महिला हिंसा उच्च पायदान पर है। जनकल्याण योजनाओं के नाम पर गरीबों को धोखा दिया जा रहा है। उखड़ी सड़कें और गंदा पानी लोगों को दर्द दे रहे हैं। संगठन के राष्ट्रीय महासचिव व प्रदेश प्रभारी हरीश पवार ने कहा कि झूठी और घोषणावीर प्रदेश सरकार को उखाड़ फेंकना ही होगा। युवा ही प्रदेश की दिशा और दशा बदल देंगे। कार्यकारी प्रदेशाध्यक्ष पवन जैसवाल का कहना था कि मुख्यमंत्री ने सरकारी मशीनरी का जमकर दुरुपयोग किया है। शहर जिलाध्यक्ष डॉ. देवेन्द्र शर्मा ने कहा कि युवाओं के जोश से लग रहा है कि भाजपा के दिन पूरे हो गए हैं। पूर्व विधायक रमेश अग्रवाल ने कहा कि आज जो जोश दिख रहा है वह भाजपा की नींद उड़ाने के लिए काफी है। कार्यक्रम में रामवरन सिंह गुर्जर, अशोक शर्मा, अहवरन सिंह, सुरेन्द्र शर्मा, श्रीकृष्ण गुर्जर, दीन यादव, मिथलेश यादव,कमलेश कौरव, रिषी गुर्जर, बंटी बघेल, संदीप यादव, केशव सिंह, महादेव अपौरिया, चतुर्भुज धनोलिया, शिवराज यादव आदि शामिल थे। संचालन कुलदीप सिंह कौरव ने किया।

फूलबाग से पड़ाव के रास्ते जाम, लोग परेशान

सभा स्थल तक रैली के साथ ही दो पहिया, चार पहिया व बसों से लोग पहुंचे। ग्वालियर पूर्व विधानसभा क्षेत्र से ज्यादा लोग पहुंचे। सभा का समय 11 बजे थे। बारिश की रफ्तार भी इसी बीच कम हुई। घर, दुकान, दफ्तर के लिए लोगों का निकलना हुआ उसी समय काफिले सड़कों पर आ गए। इसलिए ट्रैफिक का दबाव बढ़ गया। पड़ाव से फूलबाग, मोतीमहल, चेतकपुरी के रास्ते जाम हो गए। पुलिस को दो घंटे मशक्कत करना पड़ी। घेराव प्रदर्शन के बाद दो बजे जाकर जाम से राहत मिली।