ग्वालियर। साफ आसमान और चटक धूप के बावजूद सर्द हवाओं के कहर से लोग दिन के समय भी कांपते नजर आए। वहीं रात की ठंड एक बार फिर अपने रंग में आ गई है। आने वाले दिनों में रात की ठंड और गहराने के आसार हैं। स्थानीय मौसम कार्यालय में दर्ज आंकड़ों के अनुसार मंगलवार शाम तक अंचल में सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ का असर खत्म हो गया था।

यही कारण रहा कि मंगलवार-बुधवार की रात पारा तेजी के साथ गिरा। बुधवार को सुबह सूर्योदय के समय वातावरण का तापमान अपने न्यूनतम स्तर 6.0 डिसे तक आ गया था। यह दर्ज न्यूनतम तापमान सामान्य से 0.7 डिसे व गत दिवस की तुलना में 1.8 डिसे कम था। न्यूनतम तापमान में लगभग दो डिसे की इस गिरावट से ठंड से मिली फौरी राहत भी अब खत्म हो चली है।

दिन भर ऐसा रहा मौसम का हाल

सुबह से सर्द हवाओं का कहर

बुधवार को सुबह 10 बजे के बाद से उत्तर-पश्चिम दिशा से सर्द हवाओं का चलना जारी हो गया था। 4 से 6 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से चलीं इन हवाओं के कारण लोग दिन में निखरी चटक धूप का लुत्फ नहीं उठा सके। दरअसल लोगों को धूप से जितनी राहत नहीं मिल रही थी, उससे अधिक शरीर की गर्माहट ये सर्द हवाएं चुराती रहीं। सर्द हवाओं के जोर के कारण दिन में पारा एक बार फिर सामान्य से 0.9 डिसे नीचे 21.8 डिसे पर आ गया। यह गत दिवस की तुलना में 0.8 डिसे कम है।

मौसम एक नजर में

आगे ऐसा रहेगा मौसम

आने वाले 24 घंटों के दौरान रात की ठंडक में और अधिक इजाफा होगा। वहीं दिन में सर्द हवाओं के चलने का क्रम जारी रहने पर दिन में भी राहत के आसार कम हैं।