ग्वलियर। सोमवार-मंगलवार दरमियानी रात रिटायर्ड फौजी के सिर पर खून सवार था। दो गोलियां चला चुका था। एक गोली के छर्रे बेटी के सिर में लगे थे और वह दरवाजे पर अचेत पड़ी थी। नशे में धुत पिता बेटी की हत्या करने तीसरी गोली भी बंदूक में डाल रहा था। यह देख घायल बेटी की मां आरोपी की पत्नी ने साहस दिखाया और पति से भिड़ गई। बंदूक छीनकर वह पास के एक घर में भागी। घर की बाहर से कुंडी भी लगा दी। जिससे आरोपी वहां तक न आ सके। पड़ोसी के घर में कूलर के नीचे बंदूक छिपा दी। बेटी को भी सुरक्षित किया। इसके बाद पुलिस को सूचना दी। गोलीबारी की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने आरोपी को हिरासत में लेकर बंदूक पड़ोसी के घर उसकी पत्नी से जब्त कर ली है। स्पॉट से खाली खोके भी उठाए हैं।

पुलिस ने घायल की शिकायत पर पिता के खिलाफ गलत हरकत का प्रयास व हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया है। आरोपी को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया गया है।

सिर में फंसे हैं छर्रे, हालत में सुधार पर होगा ऑपरेशन

घटना स्थल पर पहुंचे स्थानीय लोगों और पुलिस ने घायल बेटी को जेएएच पहुंचाया। जहां जेएएच के ट्रॉमा में उसका इलाज शुरू हुआ। बेटी की हालत नाजुक है। सिर में छर्रे फंसे होने पर उसका ऑपरेशन मंगलवार दोपहर होना था, लेकिन हालत ठीक नहीं होने पर नहीं हो सका। फिलहाल पुलिस को उसके ऑपरेशन करने लायक स्थिति में आने का इंतजार है।

अक्सर करता था मारपीट

घायल छात्रा के भाई ने न्यूरोलॉजी में बताया कि पीने के बाद पिता के सिर पर खून सवार हो जाता था। वह घर में हंगामा कर मारपीट करता था। जिससे घर का माहौल ही बिगड़ चुका था। हम यही प्रार्थना करते थे कि यह पीकर हंगामा न करें। पर हंगामा और मारपीट उनकी आदत में आ गया था।

दो साल पहले पुलिस पर भी किया था हमला

परिजन से पता लगा कि दो साल पहले फौजी घर के पास एक युवक से झगड़ रहा था। तभी वह युवक पास ही रहने वाले एक क्राइम ब्रांच के जवान को बुला लाया। पर फौजी उस पुलिस जवान पर भी भारी पड़ा और मारपीट कर दी। तब महाराजपुरा थाना पुलिस मौके पर पहुंची और बड़ी मुश्किल से उसे रोक पाई और थाने ले गई।

कई बार कर चुका है गलत काम की कोशिश

ऐसा भी पता लगा है कि आरोपी पहले भी बेटी के कमरे में घुसने का प्रयास कई बार कर चुका है पर परिवार के सदस्यों ने कभी इसका जिक्र किसी से नहीं किया है।

'मैंने नशे में सिर्फ गोली चलाई है'

पुलिस कस्टडी में खड़े आरोपी रिटायर्ड फौजी का कहना था कि वह काफी नशे में था और उसने कोई गलत काम न हीं किया है। हां नशे में अपना आपा खोकर बेटी पर गोली जरुर चलाई है। पर कोई जबरदस्ती नहीं की है।