ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। महाराजपुरा क्षेत्र की आदित्यपुरम कॉलोनी में बिजली के खुले तारों की चपेट में आने से 10 साल की मासूम परी की जान चली गई। बच्ची सुबह सूर्य को जल अर्पित करने छत पर गई थी तभी छत पर पड़े खुले तार से उसे करंट लगा और मौके पर ही उसने दम तोड़ दिया। घटना के फौरन बाद ही स्थानीय लोग आक्रोशित हो उठे और डीडी नगर सड़क मार्ग को जाम कर दिया। दो दिन पहले ही नईदुनिया ने कॉलोनी में ट्रांसफार्मर पर खुले बिजली के तारों से दुर्घटना की आशंका जताई थी।

पुलिस जानकारी के अनुसार 10 साल की परी पुत्री मकरंद तोमर सुबह करीब 10 बजे छत पर गई थी। यहां जल चढ़ाने के दौरान वह वहां पड़े तार के चपेट में आ गई, जिसमें करंट था। मौके पर ही परी की मौत हो गई। घटना के बारे में पता चलते ही परिजन बेसुध हो गए और आसपास के लोग भी श्री तोमर के घर के बाहर पहुंच गए। परी के पिता सीआरपीएफ में जवान हैं।

आज ही ड्यूटी पर लौटना था पिता को

मासूम परी के पिता मकरंद तोमर सीआरपीएफ में जवान हैं। वे पिछले सप्ताह से छुट्टी लेकर घर आए थे। मकरंद आज ही ड्यूटी पर लौट रहे थे। घर में बैग लगा था। लेकिन सुबह 10 बजे हुई इस हृदय विदारक घटना से पूरे घर में कोहराम मच गया।

पूरे इलाके में एक ही ट्रांसफार्मर, आधा-आधा किलोमीटर दूर से तार जोड़ने आते है रहवासी

आदित्यपुरम, बीपी सिटी और आसपास की कॉलोनी में एक ही ट्रांसफार्मर है। क्षेत्र के करीब 60 से 80 घरों में बिजली के कनेक्शन नहीं है। इसलिए लोग आधा-आधा किलोमीटर दूर से बांस और लकड़ियों के सहारे तारों को ग्रीनवुड पब्लिक स्कूल के गेट के बाहर लगे इस ट्रांसफार्मर तक लाते हैं। यहां हजारों तारों का मकड़जाल है। हवा चले और जब तार हट जाते हैं तो घरों की महिलाएं तक हाथों में प्लायर लेकर तार जोड़ने आती हैं। रहवासियों का कहना है कि उन्होंने सालों पहले बिजली कंपनी में वैध कनेक्शन के लिए आवेदन दे रखा है। लेकिन उनकी फाइल बिजली कंपनी के दफ्तर में धूल खा रही है।

गजब लापरवाही: नईदुनिया ने चेताया था,नहीं सुनी

घटनास्थल वही है जो दो रोज पहले नईदुनिया ने खुले पडे तारों का फोटो प्रमुखता से प्रकाशित किया था। इसमें बिजली कंपनी की लापरवाही को बताते हुए जान का जोखिम बताया। इसके बाद भी बिजली कंपनी के अफसर नहीं जागे।

बता दें कि दो दिन पहले ही नई दुनिया ने इस खबर को प्रमुखता से छापा था। जिसमें शहर के अलग-अलग हिस्सों में बिजली के खुले तारों की बात उठाई थी।