ग्वालियर। लोकसभा सभा चुनाव में भी भिंड प्रशासन का नजरबंदी फॉर्मूला लगभग सफल रहा। आंशिक घटनाओं के बीच लोग बूथ पहुंचे। श्योपुर में उग्र भीड़ को काबू करने पुलिस को गोली चलानी पड़ी। मुरैना, दतिया और शिवपुरी में मतदान लगभग शांतिपूर्ण रहा।

भिंड प्रशासन ने भाजपा प्रत्याशी संध्या राय, कांग्रेस प्रत्याशी देवाशीष जरारिया, बसपा प्रत्याशी बाबूलाल जामौर, अटेर विधायक डॉ. अरविंद भदौरिया, पूर्व विधायक हेमंत कटारे, गोहद विधायक रणवीर सिंह, भिंड विधायक संजीव सिंह, पूर्व मंत्री लाल सिंह आर्य को घरों व रेस्ट हाउस में शाम साढ़े पांच बजे तक नजरबंद रखा।

सुबह 7:30 बजे भिंड जिले के आलमपुर के कुरथर गांव में भाजपा समर्थक उत्तम सिंह कौरव पर लाठी और कुल्हाड़ी से हमला कर घायल कर दिया। दोपहर करीब 1 बजे लहार रौन के जैतपुरा गुढ़ा गांव के पोलिंग बूथ नंबर 69-70 पर कब्जा करने आए उपद्रवियों ने होमगार्ड सैनिक मेघ सिंह और उसे बचाने आए सिपाही लोकेश सिंह पर भी हमला कर वर्दी फाड़ दी।

भारी पुलिस बल ने उपद्रवियों को खदेड़ा। मेहगांव-गोरमी के अकलौनी पोलिंग बूथ नंबर 70 पर सुबह 8 बजे शरारती तत्व ने ईवीएम में भाजपा प्रत्याशी संध्या राय के बटन पर फेविक्विक डालकर बटन चिपका दी। शिकायत पर मशीन बदली गई। लहार में धर्मपुरा गांव की पोलिंग बूथ पर सुबह 7 बजे से दोपहर 2 बजे तक सीसीटीवी कैमरे बंद कर फर्जी मतदान किए जाने की शिकायत की गई है।

गोहटा में पुलिस को करना पड़ा हवाई फायर

श्योपुर जिले के रघुनाथपुर थाना क्षेत्र के सामंतापुरा पोलिंग बूथ पर वोट डालने को लेकर हुए विवाद में दो महिला व एक युवक घायल हो गया। विजयपुर के गोहटा गांव में एक युवक ने लाइन से पहले वोट डालने का प्रयास किया, रोकने पर वह तहसीलदार अशोक गोबड़िया से भिड़ गया। युवक को पकड़वाकर पुलिस की गाड़ी में बैठा दिया। भड़के ग्रामीणों ने तहसीलदार को घेरकर युवक को छुड़ा लिया। हालात देख पुलिस ने हवाई फायर किया। वीरपुर के गोहर गांव में बूथ कैप्चरिंग और करके फर्जी वोटिंग करने आए लोगों को बल ने खदेड़ दिया।