ग्वालियर। आमदिनों में गूजरी महल और किला घूमने के लिए पहुंचने वाले देशी-विदेशी सैलानियों को शुल्क देना पड़ता है। लेकिन वे 18 अप्रैल को विश्व धरोहर दिवस के दिन इन जगहों की फ्री विजिट कर सकते हैं। दोनों क्षेत्रों को राज्य पुरातत्व विभाग और एएसआई की तरफ से फ्री किया जाएगा। विजिट करने वाले सैलानियों को यहां सामान्य दिनों की तरह गाइड भी मिलेंगे, जो उन्हें सवाल करने पर धरोहर से जुड़ी जानकारी प्रदान करेंगे। फिलहाल दोनों जगहों पर इस दिन के लिए विशेष तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। गाइड पुनीत द्विवेदी के अनुसार विश्व धरोहर दिवस पर सबसे ज्यादा संख्या विदेशी सैलानियों की रहती है। वहीं राज्य पुरातत्व विभाग की ओर से गूजरी महल में हिंदुस्तान में सिक्कों का इतिहास नामक तीन दिवसीय प्रदर्शनी लगाई जाएगी। दूसरी तरफ एएसआई की तरफ से किला म्यूजियम में क्विज कॉम्पीटिशन होगा। साथ ही स्वच्छता अभियान चलाया जाएगा।

प्रतियोगिता में शामिल होंगे 10वीं तक के बच्चे

किला स्थित म्यूजियम में होने वाली प्रतियोगिता में कक्षा 10वीं तक के बच्चों को शामिल किया जाएगा। वे क्विज और निबंध प्रतियोगिता में रजिस्ट्रेशन के आधार पर भाग ले सकेंगे। इसके अलावा ऑन द स्पॉट भी रजिस्ट्रेशन करा सकेंगे। अंत में सभी प्रतिभागियों को एएसआई की तरफ से प्रमाणपत्र वितरित किए जाएंगे।

गूजरी महल में यह होगा खास

गूजरी महल के संग्राहलय में तीन दिवसीय प्रदर्शनी लगाई जाएगी। इसके खुलने का समय सुबह 10 बजे और बंद होने का समय शाम 5 बजे तय किया गया है। यहां पहुंचने वाले सैलानी छोट-बडे आकार के सिक्के, जनपद सिक्के, राजवंशों के सिक्के, मौर्य सिक्के, गुप्त सिक्के, मुगलकालीन सिक्के, अंग्रेजों के सिक्के, विक्टोरिया सिक्के के साथ-साथ कसरावत जिला खरगौर संग्रहालय से मंगाए गए सिक्कों के दस्तावेज देख सकेंगे। सैलानियों को सिक्कों का इतिहास बताने के लिए मौके पर गाइड भी रहेंगे।