ग्वालियर। सात जिलों के पासपोर्ट आवेदनों के वेरीफिकेशन का लोड झेल रहा महाराज बाड़ा स्थित डाकघर को राहत देने की कवायद शुरू हो गई है। जल्द ही दतिया व शिवपुरी में पासपोर्ट सेवा केन्द्र खोलने जाएंगे। इसके लिए दोनों जिलों में जगह की तलाश शुरू हो गई है। यहां केन्द्र शुरू होने से ग्वालियर के आवेदकों के दस्तावेज के वेरीफिकेशन के लिए एक सप्ताह के भीतर समय मिलने लगेगा। डाकघर अधिकारियों का कहना है शासन की योजना है कि पासपोर्ट सेवा केन्द्र हर 50 किलोमीटर के दायरे में खोले जाएं। अभी गुना, शिवपुरी, दतिया, भिंड, श्योपुर और मुरैना के पासपोर्ट आवेदकों का वेरीफिकेशन ग्वालियर में ही किया जाता है।

स्थान का चयन होते ही खुल जाएगा सेवा केन्द्र

अधिकारियों का कहना है दतिया में अभी डाकघर किराए के भवन में संचालित है। पीडब्ल्यूडी के भवन में 20 रुपए प्रतिमाह किराए पर डाकघर चल रहा है। पीडब्ल्यूडी भवन खाली करवाना चाहता है, इसलिए दूसरा स्थान तलाशा जा रहा है। उधर शिवपुरी के डाकघर में भी जगह की उपलब्धता कम है। जबकि भिंड व गुना में भी पासपोर्ट सेवा केन्द्र खोलने पर विचार चल रहा है।

सप्ताह भर में होगा आवेदन का वेरीफिकेशन

दतिया व शिवपुरी में पासपोर्ट सेवा केन्द्र शुरू होते ही भिंड, दतिया, शिवपुरी, गुना व श्योपुर के आवेदकों के आवेदन इन दोनों सेवा केन्द्र पर पहुंचना शुरू हो जाएंगे। इससे बाड़ा स्थित डाकघर में संचालित पासपोर्ट सेवा केन्द्र पर शहर व आसपास के कस्बों तथा मुरैना के आवेदकों का ही लोड शेष रह जाएगा। ऑनलाइन आवेदकों का एक सप्ताह के भीतर वेरीफिकेशन होने लगेगा।

पासपोर्ट बनने का समय भी घटेगा

अभी पासपोर्ट बनने में 90 दिन का समय लगता है। दूसरों जिलों का लोड कम होने के बाद शहर के आवेदकों के दस्तावेज भोपाल भी जल्द पहुंचेंगे। साथ ही पुलिस वेरीफिकेशन भी जल्दी होगा, तब डेढ़ से दो माह में पासपोर्ट बनकर तैयार हो जाएगा।

इनका कहना है

दतिया में किराए के भवन में डाकघर चल रहा है। जगह की तलाश की जा रही है। शासन की 50 किलोमीटर के दायरे में पासपोर्ट सेवा केन्द्र खोलने की योजना है। इसके तहत शिवपुरी व दतिया में पासपोर्ट केन्द्र खुलना हैं। इससे शहर का लोड कम हो जाएगा।

एसके ठाकरे, एसपीएसओ, डाकघर मुरार