Naidunia
    Sunday, December 17, 2017
    PreviousNext

    जन्माष्टमी उत्सव के लिए नए झूलों के साथ सजा बाजार

    Published: Sun, 13 Aug 2017 04:02 AM (IST) | Updated: Sun, 13 Aug 2017 04:02 AM (IST)
    By: Editorial Team

    फोटो 8 टिमरनी। प्रतिष्ठानों पर दिखाई देने लगे कृष्ण जन्मोत्सव को लेकर आकर्षक झूले।

    जन्माष्टमी उत्सव के लिए नए झूलों के साथ सजा बाजार

    मंदिरों में मनाया जाएगा कृष्णजन्मोत्सव

    टिमरनी। नवदुनिया न्यूज

    इसी माह 15 अगस्त को आ रहे जन्माष्टमी उत्सव को लेकर पूरे क्षेत्र भर में उत्साह का माहौल है। जहां यह उत्सव को लेकर कृष्ण भक्त व ग्रामीण जोर शोर से तैयारियों में लगे है। वहीं जो लोग भगवान कृष्ण के झूले तैयार करते है। उन्होंने भी इस उत्सव को लेकर तैयारियां शुरू कर दी हैं। जन्माष्टमी के लिए झूले भी आकर्षक रूप में सजाने का कार्य प्रारंभ कर दिया हैं। यह सब कुछ अब प्रतिष्ठानों पर दिखाई देने लगा हैं। जहां झूलों के साथ - साथ कृष्ण की सजावट के लिए अन्य सामग्री भी इन प्रतिष्ठानों पर दिखाई देने लगी हैं। मालूम हो कि भगवान कृष्ण का जन्मोत्सव पूरे देश भर में बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है। राधा कृष्ण मंदिरों सहित अन्य मंदिरों एवं घरों में भगवान कृष्ण का जन्मदिन भजन कीर्तन के साथ मनाया जाता हैं।

    इन स्थानों पर होता है भव्य आयोजन

    मालूम हो कि नगर व आसपास के ग्रामीण क्षेत्र में भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव मनाने की प्राचीन परंपरा है। मंदिर-मंदिर व घर-घर भगवान कृष्ण के जन्म पर झूले सजाए जाते है। अर्धरात्रि में भगवान का जन्मोत्सव मनाया जाता है। आरती की जाती है एवं भगवान को झूला झुलाया जाता है। नगर में राम दरबार, नर्मदा मंदिर, बालाजी मंदिर, लक्ष्मी नारायण मंदिर, शीतला माता, हनुमान मंदिर सहित समस्त मंदिर व मठो में भगवान का जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया जाता है। आतिशबाजी की जाती है एवं माखन मिश्री का भोग लगाकर महाप्रसादी का वितरण किया जाता हैं। ग्रामीण क्षेत्रों के मंदिरों में इस उत्सव को बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है। जन्मोत्सव के दौरान माखन मिश्री तथा पंजरी की प्रसादी वितरित की जाती हैं।

    और जानें :  # betul news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें