- नवागत एसडीएम जैसवाल ने प्रभावितों से की चर्चा

- ज्वाइंट खाताधारकों की सहमति और एकल खातों में होगा दो दिनों में भुगतान

हरसूद/पटाजन। नईदुनिया न्यूज

बाराकुंड बांध परियोजना के 304 में से 103 प्रभावितों को मुआवजा राशि का भुगतान किया जा चुका है। परियोजना का काम शुरू कराएं। रिकॉर्ड में शामिल खाताधारकों को शिविर में बुलाकर सहमति लें। शेष प्रभावितों की मुआवजा राशि भी जल्द डाल दी जाएगी। एकल खाताधारक किसानों के भुगतान की प्रक्रिया दो दिन में शुरू कर दी जाएगी। सोमवार को परियोजना के प्रभावितों की समस्याओं के निराकरण के लिए ग्राम में शिविर आयोजित किया जाएगा। रिकॉर्ड में सुधार की जिम्मेदारी हमारी है।

यह बात शनिवार को बाराकुंड पहुंचे नवागत आईएएस एसडीएम पार्थ जैसवाल ने ग्राम पंचायत भवन में प्रभावितों से चर्चा के दौरान कही। इस अवसर पर एसडीओपी शशिकांत सरियाम, तहसीलदार खालवा आरएस गोलकर व अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे। एसडीएम जैसवाल से परियोजना प्रभावितों ने समस्या बताते हुए कहा कि इसके पहले भी शिविर आयोजित किए जा चुके हैं लेकिन भुगतान अब भी नहीं हुआ है। काम चालू कराने के बाद भी भुगतान की प्रक्रिया के लिए चक्कर काटने पड़ते हैं। इसलिए भुगतान के बाद ही बांध का निर्माण कार्य शुरू किया जाए। जरा-जरा से काम के लिए परेशान किया जाता है। ग्रामीणों और प्रभावितों से चर्चा के बाद उन्हें लोकसभा चुनाव में मतदान करने की शपथ दिलवाई गई।

महिला ने रोका बांध का काम

बांध का निर्माण कार्य शुरू होने की जानकारी मिलते ही प्रभावित बुधिया बाई बांध स्थल पर जा पहुंची। महिला ने एसडीएम से बांध स्थल के समीप उसकी जमीन का रकबा गायब होने की समस्या बताते हुए कहा कि पिछले कई वर्षों से हम यहां खेती कर रहे हैं। बांध निर्माण के लिए हमारी जमीन ले ली गई। इसका मुआवजा भी नहीं दिया गया। जानकारी लेने पर राजस्व अधिकारी यहां हमारे नाम पर रिकॉर्ड में कोई भी जमीन नहीं होना बता रहे हैं। जमीन के प्रभावित हिस्से के निराकरण नहीं होने के कारण महिला ने बांध का काम रूकवा दिया है।