नरसिंहपुर।

गोटेगांव के करीब 4-5 साल पुराने विवाद के दो मामलों में जांच करने के लिए रविवार को एसटीएफ की एक टीम नरसिंहपुर पहुंची। दोनों प्रकरणों में राज्यमंत्री जालम सिंह पटैल का नाम भी है।

रविवार को एसटीएफ की एक टीम ने पूरी गोपनीयता के साथ बयान दर्ज किए। गोटेगांव में वर्ष 2014 में पूर्व नपा उपाध्यक्ष मुकेश चौकसे तथा अन्य देवेंद्र चौकसे, राजू चौकसे का विवाद जालम सिंह पटैल और अन्य के साथ हो गया था। जिसमें नपा उपाध्यक्ष और अन्य दो के द्वारा जानलेवा हमले की अलग-अलग रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। गोटेगांव थाना में राज्यमंत्री पर धारा 307 सहित अन्य धाराओं के तहत मामले दर्ज हैं। इस मामले में जांच के लिए एसटीएफ जांच टीम के प्रभारी चौरई थाना प्रभारी अशोक चौरसिया को प्रभारी रविवार को नरसिंहपुर में रहे।

.......

आए थे जांच करने

गोटेगांव के दो पुराने मामले में इंवेस्टीगेशन करने आए हैं, धारा 307 व अन्य धाराएं हैं, अभी इस मामले में ज्यादा कुछ नहीं कहेंगे। मामले में यह ओपन नहीं कर सकते कि कहां जांच हुई और क्या तथ्य मिले। अभी प्रकरण पूरा जांच में है। इससे ज्यादा कुछ नहीं कह सकते।

- अशोक चौरसिया, एसटीएफ तथा चौरई थाना प्रभारी