राजगढ़, नरसिंहगढ़। नरसिंहगढ़ विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के विधायक हैं। इस सीट पर भाजपा सांसद रोडमल नागर की भी नजर बनी हुई है। राजनीतिक चर्चाओं के मुताबिक नागर का विस क्षेत्र सारंगपुर आरक्षित होने के कारण वह नरसिंहगढ़ से विधानसभा चुनाव लड़ने का मन बना रहे हैं। हालांकि सांसद फिलहाल इसकी पुष्टि नहीं कर रहे हैं।

यहां भाजपा के मोहन शर्मा सबसे सशक्त उम्मीदवार माने जा रहे हैं। उनके अलावा अन्य कोई उम्मीदवार यहां सीट निकालने की स्थिति में नहीं है। क्योंकि पिछले 20 साल में भाजपा दो बार केवल मोहन शर्मा के सहारे ही जीत पाई है। उधर विधायक गिरीश भण्डारी का कांग्रेस से लड़ना लगभग तय माना जा रहा है। कांग्रेस के गिरीश भंडारी पिछला चुनाव बड़े अंतर से जीते हैं। भण्डारी को राजनीति विरासत अपने ताऊ मांगीलाल भण्डारी से मिली है।

मांगीलाल भण्डारी 1972 व 93 में दो बार विधायक रहे हैं तो मोहन शर्मा शिवसेना प्रदेशाध्यक्ष रहते हुए उनसे 1993 में शिवसेना प्रत्याशी के रूप में दूसरे स्थान पर रहे थे। भाजपा उस समय तीसरे स्थान पर गई थी। 1998 में शर्मा शिवसेना से मैदान में उतरे तो भाजपा फिर हारी व कांग्रेस जीती। 2003 व 2008 में लगातार दो बार शर्मा भाजपा में शामिल होने के बाद विधायक बने। 2008 का चुनाव गिरीश भण्डारी उनसे हार गए थे। 2013 का चुनाव भण्डारी जीते।

फैक्ट फाइल -

2008 का परिणाम -

मोहन शर्मा - भाजपा 56147

गिरीश भण्डारी - कांग्रेस 52984

जीत का अंतर - 3163

पिछले चुनावों में मिले वोट -

गिरीश भण्डारी - कांग्रेस 85847

मोहन शर्मा - भाजपा 62829

जीत का अंतर - 23018

2018 में संभावित प्रत्याशी -

रोडमल नागर सांसद, मोहन शर्मा, राजवर्धनसिंह, लक्ष्मीनारायण पचवार्या भाजपा कांग्रेस गिरीश भण्डारी, धूलसिंह यादव, मंजूलता शिवहरे, प्रेमकिशोर मीणा

कुल मतदाता - 195145

मतदान केंद्र - 238

पुरुष मतदाता - 110487

महिला मतदाता - 93657

थर्ड जेंडर - 01

क्षेत्र की बड़ी समस्याएं -

क्षेत्र में उद्योग व रोजगार का अभाव, मेडिकल व इंजीनियरिंग कॉलेज न होना बड़ी समस्या है। नरसिंहगढ़ महोत्सव का बंद होना लोगों की नाराजगी का कारण बन सकता है। इसके अलावा केंद्रीय विद्यालय के नहीं खुलने के कारण लोगों में आक्रोश व्याप्त है। कई गांवों में आज भी सड़कों का अभाव है ।

पांच बड़े वादे और स्थिति -

पार्वती नदी पर रेसई डैम को स्वीकृति मिली है। इससे 48 हजार हेक्टेयर जमीन सिंचित होगी। कुरावर में 4 करोड़ का आंतरिक मार्ग बनकर तैयार। तीन बड़े स्टॉप डैम बनकर तैयार, केन्द्रीय विद्यालय के लिए जमीन अलाट हो चुकी है।

जातीय समीकरण -

जातिगत लिहाज से करीब 2 लाख मतदाता वाले नरसिंहगढ़ विधानसभा क्षेत्र में सबसे ज्यादा मतदाता 25-25 हजार अजा, एवं अल्पंसख्यकों के हैं। मीणा समाज 22 हजार मतदाताओं के साथ दूसरे नंबर पर है तो चौरसिया समाज के भी 20 हजार मतदाता हैं। खाती समाज के 15 हजार तो रूहैला समाज के 10 हजार मतदाता हैं।

आमनेसामने -

विधायक से सीधी बात -

हमने गांवों में बिजली, पानी, सड़कों के इंतजाम करवाए हैं। पार्वती नदी पर बड़ा डैम किसानों के जीवन में खुशहाली लाएगा। भाजपा सरकार लगातार सौतेला व्यवहार करती है, लेकिन इसके बाद भी लड़कर हमने जनता के लिए काम किए है। -गिरीश भण्डारी, विधायक कांग्रेस

दूसरे नंबर पर रहे प्रत्याशी का मत जितने भी काम हो रहे सब भाजपा सरकार करा रही है। प्रधानमंत्री आवास योजना, मुख्यमंत्री कन्यादान, बच्चों की शिक्षा, एक रुपए किलो का गेहूं देना, गांवों में सड़कें सब हमारी सरकार करा रही है। कांग्रेसी विकास कार्यों को गिनाकर लोगों को भ्रमित कर रहे हैं। -मोहन शर्मा, पूर्व प्रत्याशी भाजपा