इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। आर्थिक आधार पर सवर्णों के लिए लागू 10 प्रतिशत आरक्षण के लिए आईआईएम इंदौर 25 फीसदी सीटें बढ़ाएगा। कोटा बढ़ने से अनारक्षित श्रेणी की सीटों का अनुपात असंतुलित न हो, इसलिए कुल सीटों में नए कोटे से 10 फीसदी ज्यादा की बढ़ोतरी की जा रही है। दो साल में चरणबद्ध सीटें बढ़ाई जाएंगी।

आईआईएम के अनुसार पहले चरण यानी आने वाले नए सत्र में 8 प्रतिशत सीटें बढ़ाई जाएंगी। इसके बाद अगले वर्ष 17 प्रतिशत सीटें बढ़ेंगी। मालूम हो, सीटों के लिहाज से आईआईएम इंदौर देश का सबसे बड़ा आईआईएम है। यहां पीजीपी में 450 सीटें हैं, वहीं अंडर ग्रेजुएट स्तर कोर्स आईपीएम में 120 सीटें हैं। वहीं अब आईपीएम का कोर्स मुंबई में बंद कर सिर्फ इंदौर में ही संचालित किया जाएगा।