इंदौर। बच्‍चों से जुड़े अश्‍लील ग्रुप के तीन सदस्‍यों को इंदौर साइबर सेल पुलिस ने गिरफ्तार किया है। साइबर सेल पुलिस अधीक्षक जितेंद्र सिंह के अनुसार अंतर्राष्‍ट्रीय ग्रुप के तीन सदस्‍यों को साइबर सेल पुलिस ने गिरफतार किया है।

जानकारी के अनुसार इसके सदस्‍य विभिन्‍न अश्‍लील नामों से व्‍हाट्सएप ग्रुप चला रहे थे। इनसे करीब 28 देशों के लोग जुड़े हुए हैं। ग्रुप के एडमिन का तथाकथित मोबाइल नंबर कुवैत का है। दो ग्रुप में सर्वाधिक 205 सदस्‍य भारत के हैं। इस ग्रुप में नाबालिग बच्‍चों के अश्‍लील वीडियो डाले किए गए हैं।

पकड़ाए गए लोगों में एक नाबालिग है जबकि एक महूगांव और एक सरदारपुर धार निवासी है। ग्रुप के भारतीय सदस्‍यों में अधिकांश उत्‍तर पूर्व और दक्षिण भारत के मोबाइल नंबर हैं। इस समूह पर 22 फरवरी को सीबीआई भी लगातार कार्रवाई कर चुकी है।

आरोपियों में एक इंजीनियरिंग उपाधि प्राप्‍त , एक बारहवीं का छात्र तथा एक बर्तन दुकान का संचालक है। ये वि‍भिन्‍न सोशल मीडिया समूह से लिंक से प्राप्‍त कर सदस्‍य बन रहे थे।

साइबर सेल इंदौर की मप्र में बाल अश्‍लीलता के खिलाफ अब तक की यह पहली कार्रवाई है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि साइबल सेल ऑनलाइन अश्‍लीलता फैलाने वाले सोशल मीडिया समूह पर लगातार नजर रख रहा है।सेल की रिसर्च विंग के आरक्षक विवेक मिश्रा को इस इस दौरान जानकारी मिली थी। इसके बाद कार्रवाई की गई।