इंदौर। डॉ.आनंद राय ने शासकीय सेवा से इस्तीफा दे दिया है। वे जिला अस्पताल में पदस्थ थे। सिविल सर्जन ने लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग प्रमुख सचिव को पत्र लिखकर इसकी जानकारी दी।

पत्र में कहा है कि डॉ.राय का इस्तीफा 6 नवंबर 2018 की शाम 4 बजे कार्यालय पहुंचा है। शासकीय सेवा से त्यागपत्र देते हुए डॉ.राय ने एक माह के वेतन की राशि 78415 रुपए कार्यालय में जमा करवाए हैं। गौरतलब है कि डॉ.राय के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस से टिकट मांगने की अटकलें चल रही हैं।

उल्‍लेखनीय है कि आरटीआई एक्टिविस्ट डॉ.आनंद राय प्रदेश के बहुचर्चित व्‍यापमं घोटाले मामले के व्हिसलब्लोअर रहे हैं।