इंदौर। शहर के पूर्वी क्षेत्र में 17 नवंबर को रिंग रोड स्थित एक होटल में अनूठा सामूहिक विवाह सम्मेलन होने जा रहा है। उद्योगपति पिता और डॉक्टर माता अपनी बेटी महिमा की शादी के तीन दिन पहले 21 जरूरतमंद बेटियों के हाथ पीले करेंगे। यह कदम उन्होंने अपनी न्यूक्लियर साइंटिस्ट बेटी की ख्वाहिश के अनुरूप उसके विवाह को यादगार बनाने के लिए उठाया है।

इस विवाह में होने वाले सभी खर्च के साथ गृहस्थी का सामान भी उपहारस्वरूप उद्योगपति सुनील गुप्ता और उनकी पत्नी डॉ. दिव्या गुप्ता द्वारा दिया जाएगा। गुप्ता दंपती के अनुसार बेटी की इच्छा के अनुसार हम 21 अन्य बेटियों का सामूहिक विवाह कर रहे हैं।

बेटी महिमा डेली कॉलेज से 12वीं कक्षा पास करने के बाद से ही अमेरिका चली गई है। वहां इंजीनियरिंग की पढ़ाई के बाद पीएचडी की है। वह न्यूक्लियर साइंटिस्ट है। शादी तय होने पर महिमा ने अपने पिता से कहा कि मेरी खुशी के लिए कोई ऐसी मिसाल पेश करें जिससे समाज के उस वर्ग के चेहरों पर खुशियां दमक उठें जो मनचाही खुशियों से वंचित रह गया हो और जो उसे जीवन भर याद रहे। सुनील गुप्ता के अनुसार महिमा परिवार के इस निर्णय से बहुत प्रसन्न है।

अपनी-अपनी सामाजिक परंपरानुसार होगा विवाह

सम्मेलन में 21 अन्य बेटियों का विवाह वैदिक मंत्रोच्चार के साथ अपनी-अपनी सामाजिक परंपरानुसार होगा। आयोजन की तैयारियां अभिभावकों के साथ इंदौर जिला वैश्य महासम्मेलन के संरक्षक दिनेश मित्तल, राजेश कुंजीलाल गोयल आदि मिलकर कर रहे हैं।

इसमें समान खान-पान, समान पहनावा और समान पूजा पद्धति वाले समाजों के युगल भाग लेंगे ताकि वैवाहिक परंपराओं और रस्मों के पालन में ज्यादा दिक्कत नहीं आए। अन्य समाजों के युगल आएंगे तो उनके लिए भी इसी मंडप में व्यवस्था की जाएगी।