इंदौर। चौथा राष्ट्रीय खान और खनिज सम्मेलन 13 जुलाई को ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में सुबह 9.30 बजे से होगा। सम्मेलन में खान एवं खनिज की नीलामी में तेजी लाने और भागीदारी को बढ़ावा देने पर विचार-विमर्श किया जाएगा।

कार्यक्रम में केंद्रीय खान मंत्री नरेंद्रसिंह तोमर, मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान, केंद्रीय खान राज्यमंत्री हरिभाई पार्थीभाई चौधरी, प्रदेश के खनिज मंत्री राजेंद्र शुक्ल, नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत, केंद्रीय खनिज सचिव अनिल मुकीम, केंद्रीय स्टील सचिव अरुणा शर्मा, केंद्रीय पर्यावरण एवं वानिकी सचिव सीके मिश्रा, केंद्रीय अतिरिक्त सचिव खान राजशेखर राव सहित देश के प्रमुख खनिज संपदा वाले 22 राज्यों के मंत्री, प्रमुख सचिव और प्रतिनिधिमंडल शामिल होंगे।

प्रदेश में यह सम्मेलन पहली बार हो रहा है। राज्य सरकारों को अपने नीलामी योग्य खनिज ब्लॉकों को प्रदर्शित करने, उनके गवेषण, खनिज संसाधनों व ब्लॉकों से परिवहन संपर्क, राज्य में नीतिगत परिदृश्य और भावी निवेशकों को आकर्षित करने के प्रोत्साहन के बारे में बताने का विशेष अवसर मिलेगा।

प्रदेश के प्रमुख सचिव खनिज नीरज मंडलोई ने बताया कि प्रदर्शनी भी लगेगी, जिसमें मिनरल्स ब्लॉक की नीलामी के बारे में उपयोगी जानकारी मिल सकेगी। नीलामी के लिए रखे जाने वाले खनिज ब्लॉकों को भी प्रदर्शित किया जाएगा। एक राउंड टेबल परिचर्चा भी होगी। सम्मेलन को लेकर खान मंत्रालय की बेवसाइट पर वेब पेज"एनसीएमएम 2018" बनाया गया है।