बेटमा। सड़क दुर्घटना में घायल अपने दोस्त के इलाज में आर्थिक मदद पहुंचाने के लिए दो छात्रों ने चंदा इकट्ठा कर मानवता की मिसाल पेश की। दूसरे स्कूल में पढ़ने वाले दो दोस्तों ने भी उनके साथ सराहनीय मदद करते हुए घरों व दुकानों पर जाकर चंदा इकट्ठा किया।

बेटमा के एक निजी स्कूल में पढ़ने वाला कक्षा 10वीं का छात्र सोनू पिता लाखन चौधरी निवासी अटावदा 3 जनवरी को दोपहिया वाहन से टयूशन से घर लौट रहा था। इसी दौरान चार पहिया वाहन ने उसे टक्कर मार दी थी। हादसे में सोनू गंभीर रूप से घायल हो गया, उसे इंदौर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

सोनू के इलाज में 6 लाख से अधिक का खर्च आने व पिता की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने की जानकारी लगने के बाद स्कूल मैनेजमेंट ने सभी विद्यार्थियों से मदद को कहा था।

इकट्ठा किए 7500 रुपए

स्कूल में कक्षा 9वीं के छात्र कृष कुमरावत व अहम जैन ने भी मदद करने की ठानी। इन दोनों ने मिलकर स्वेच्छा से 'सेव सोनू' के नाम से दान पात्र तैयार किया और नगर में चंदा इकट्ठा करने निकल पड़े। दूसरे स्कूल में पढ़ने वाले तिलक राठौर व चेतन बारस्कर ने भी इस कार्य में अपने इन मित्रों का साथ दिया। बच्चों ने घर और दुकानों पर जाकर 7500 रुपए इकट्ठा किए और इस राशि को स्कूल में रखे डोनेशन बॉक्स में डाल दिया।

अभी पूरी तरह होश में नहीं है सोनू

स्कूल प्राचार्य पूनम शेखावत ने बताया कि सोनू के बेहतर इलाज के लिए स्कूल चेयरमैन अनिल मदान ने उसे बॉम्बे हास्पिटल में भर्ती कराया है। वह अभी भी पूरी तरह होश में नहीं है। सोनू के इलाज में स्कूल स्टाफ ने भी अपने एक दिन का वेतन दिया है।