इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। मलयगिरि तीर्थ पर उपजे विवाद में मुनिश्री सुब्रतसागर महाराज ने 14 अप्रैल को खुद थाने में जाकर रिपोर्ट लिखाई थी। दिगंबर जैन समाज के अध्यक्ष राजकुमार पाटोदी ने इसे संपूर्ण अहिंसक समाज के लिए अपमान बताया है। सामाजिक संसद के प्रवक्ता डॉ. जैनेन्द्र जैन एवं प्रभारी संजीव जैन संजीवनी ने कहा कि जैन तीर्थ सदैव ही सभी वर्गों के उत्थान और बेहतरी के लिए बनाए जाते हैं।

जानकारी के अनुसार मलयगिरि तीर्थ पर एक संत को साधना से विचलित करने की कोशिश इंदौर के संपूर्ण अहिंसक समाज के लिए अपमानजनक है। महावीर जयंती कार्यक्रम के बाद दिगंबर जैन समाज सामाजिक संसद इस विवाद के समाधान का प्रयास करेगी। आवश्यक हुआ तो कानूनी कार्रवाई के लिए प्रशासन के आला अधिकारियों से संपर्क भी किया जाएगा।