देपालपुर, नईदुनिया न्यूज। कांग्रेस ने मंगलवार को देपालपुर में 'वक्त है बदलाव का, परिवर्तन का शंखनाद' कार्यक्रम का आयोजन किया। कांग्रेस नेता और मप्र कांग्रेस के चुनाव समिति प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया ने आमसभा को संबोधित करते हुए प्रदेश और केंद्र सरकार को कई मुद्दों पर घेरा। सिंधिया ने कहा कि फसल बीमा का काम गुजरात की निजी कंपनियां कर रही हैं। इसी कारण किसान जितनी प्रीमियम भरता है फसल का नुकसान होने पर उसे उतना मुआवजा भी नहीं मिलता।

उन्होंने कहा कि 1800 रुपए की प्रीमियम पर किसान को फसल नुकसानी होने पर एक रुपए का चेक मिलता है। सिंधिया ने रोजगार, महंगाई, नोटबंदी, पेट्रोल की बढ़ती कीमतों जैसे कई मुद्दों पर सरकार को घेरा। आमसभा में करीब 15 हजार लोग पहुंचे थे। उन्होंने मुख्यमंत्री को आड़ेहाथ लेते हुए आरोप लगाया कि प्रदेश के मुखिया जहां दिन में नदी का भ्रमण कर रहे हैं वहीं रात में रेत का अवैध खनन करवा रहे हैं। भाजपा के शासन में राशन दुकान से अब रेत मिलेगी।

उन्होंने कहा कि अगर मंदिर बनाना है तो सिंधिया परिवार से सीखो जो 65 मंदिर बना चुके हैं। पूर्व विधायक सत्यनारायण पटेल ने कहा कि किसानों की समृद्धि के लिए कांग्रेस सदैव तत्पर रही है। किसान, मजदूर, गरीब की आवाज सदैव हमने उठाई है। पूर्व मंत्री रामेश्वर पटेल, पूर्व विधायक तुलसी सिलावट, अंतरसिंह दरबार ने भी संबोधित किया।

सिंधिया ओंकारेश्वर रवाना : परिवर्तन यात्रा के तहत देपालपुर में आमसभा लेने के बाद सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया इंदौर आए। इसके बाद वे रात को ओंकारेश्वर के लिए रवाना हो गए। सिंधिया इंदौर में एक घंटा रुके।

जावरा और नागदा में दिखाए काले झंडे : कांग्रेस नेता महेंद्रसिंह कालूखेड़ा के प्रथम पुण्य स्मरण पर कालूखेड़ा में मंगलवार को समारोह में आ रहे सिंधिया के काफिले को जावरा-उज्जैन टू-लेन पर काले झंडे दिखाए गए। एससी-एसटी एक्ट में संशोधन के खिलाफ करणी सेना के सदस्यों ने यह विरोध प्रदर्शन किया। नागदा में भी करणी सेना ने घिनौदा फंटे पर सिंधिया को काले झंडे दिखाए।