Naidunia
    Saturday, December 16, 2017
    PreviousNext

    इंदौरी अंदाज से ही मिला संजय दत्त की बायोपिक में मौका

    Published: Mon, 04 Dec 2017 11:44 AM (IST) | Updated: Thu, 07 Dec 2017 02:32 PM (IST)
    By: Editorial Team
    rajiv nema indori 2017124 114733 04 12 2017

    इंदौर, नईदुनिया रिपोर्टर। संजय दत्त पर फिल्म बना रहे राजकुमार हीरानी को अपनी फिल्म के लिए एक अलग अंदाज के रोल के लिए एक्टर की तलाश थी। उनके कास्टिंग डायरेक्टर ने मुझे सिलेक्ट कर लिया। मैं हमेशा से हीरानी जी का फैन रहा हूं, लेकिन मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि वो भी मुझे जानते होंगे।

    न्यूयॉर्क में शूटिंग के पहले ही दिन जब उन्होंने मेरा नाम लेकर पुकारा तो मैं हैरान रह गया। उससे भी ज्यादा हैरानी तो मुझे तब हुई जब उन्होंने बताया कि वो मेरे 'इंदौरी अंदाज' के वीडियो यू-ट्यूब पर रेग्युलर देखते रहते हैं।

    ऐसे ही कई दिलचस्प बातें और मनोरंजक किस्से अमेरिका में इंदौरी अंदाज 'भिया... राम" को हिट कराने वाले कलाकार राजीव नेमा ने रविवार सुबह 56 दुकान पर आयोजित कार्यक्रम में अपने फैंस को सुनाए। उन्होंने बताया कि अमेरिका जाकर भी अपनी माटी से जुड़े रहने के उन्हें कई फायदे हुए हैं। संजय दत्त की बायोपिक के पहले वो कंगना रानावत स्टारर 'सिमरन' में भी अहम भूमिका निभा चुके हैं।

    होड़ मची सेल्फी लेने की

    कार्यक्रम के दौरान अपने पसंदीदा आर्टिस्ट के साथ सेल्फी लेने के लिए इंदौरियों में होड़ मच गई। कोई उनसे 'भिया ... राम' कहने की फरमाइश कर रहा था तो कोई उनके यू-ट्यूब पर हिट वीडियो को लाइव सुनाने की रिक्वेस्ट कर रहा था। पोहे-जलेबी के शौकीन इंदौरियों ने इससे जुड़े अपने भी कई दिलचस्प अनुभव साझा किए। शादियों के सीजन के चलते राजीव के 'गिफ्ट में क्या देना है' एलबम को सुनाने की फरमाइश बार-बार हुई। जिसे सुनकर लोग लोटपोट होते रहे।

    एक चम्मच के बजाय दो प्लेट पोहे खाते हैं अमेरिकी

    राजीव के 'ठेले वाले बाबू मुझे पोहे खिला दे' वीडियो को दुनिया भर में लाखों लोगों ने देखा है। उन्होंने बताया कि वीडियो से पहले जब हम लोग पोहे खाते थे तो अमेरिकी मित्र भी कभी-कभार एक-दो चम्मच चख लेते थे मगर इस वीडियो को देखने के बाद अब वो हम लोगों से ज्यादा पोहे-जलेबी खाने लगे हैं। कई मित्र तो दो-दो प्लेट पोहे एक साथ उड़ाने लगे हैं।

    जीरावन और सेंव की डिमांड इतनी तेजी से बढ़ी है कि पूछो मत। इंदौर आया हूं तो सैकड़ों दोस्तों ने सेंव-जीरावन मंगाए हैं। मुझे लगता है कि आगे चलकर ये बहुत अच्छा बिजनेस बन सकता है। मेरे अमेरिकी दोस्त भी अब मुझसे मिलते वक्त मेरे तकियाकलाम 'भिया राम' के जरिए ही मुझे विश करते हैं। कुछ दोस्तों को तो मेरे कई इंदौरी चुटकुले पूरे-पूरे याद हो गए हैं। वो जब टूटी-फूटी मालवी में उन्हें सुनाते हैं तो मजा आ जाता है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें