इंदौर। कमोडिटी कारोबारी संदीप तेल हत्याकांड के प्रमुख संदेही सुशील बजाज और मनोहर वर्मा ने तत्कालीन एडीजी अजय कुमार शर्मा की विदाई पार्टी का आयोजन किया था। इसमें कई बदमाश और शूटर शामिल हुए थे। उन्होंने एडीजी का स्वागत भी किया था। संदीप की हत्या के बाद एडीजी शर्मा और बदमाशों के फोटो वायरल हुए हैं। इनमें से कई को पुलिस ने पकड़ लिया है, कई की तलाश जारी है।

पार्टी में एसपी व जेल अफसर भी गए थे। संदीप के बड़े भाई प्रदीप अग्रवाल ने आरोप लगाया कि संदीप को चैनल (एसआर) विवाद में धमकियां मिल रही थीं। जिसकी शिकायत पुलिस अफसरों से की थी। रोहित सेठी और सुशील बजाज एडीजी अजय कुमार शर्मा का नाम लेकर झूठे केसों में फंसाने की कोशिश कर रहे थे।

कुछ दिन पूर्व सुशील ने साथी विजय गर्ग से अपहरण व मारपीट की पलासिया थाने में झूठी शिकायत करवा दी। शक होने पर एएसपी वाहनी सिंह ने घटना स्थल से विजय के मोबाइल की लोकेशन और सीसीटीवी फुटेज निकलवाए तो विजय खुद ही कार से जाता हुआ दिखाई दिया। प्रदीप के मुताबिक, संदीप की हत्या में रोहित सेठी व सुशील बजाज का ही हाथ है। सुशील ने कुछ दिन पूर्व होटल मैरियट में एडीजी की विदाई पार्टी रखी थी। इसमें गैंगस्टर मनोहर वर्मा, अश्विन सिरोलिया और सतीश पुरी सहित कई बदमाश शामिल हुए थे।

इनका कहना है

एसआर चैनल के हेड सुशील बजाज ने विदाई पार्टी में आमंत्रित किया था। मुझे इस बात की जानकारी नहीं है कि पार्टी में शामिल कौन व्यक्ति आपराधिक प्रवृत्ति का था।

- अजय कुमार शर्मा, तत्कालीन एडीजी

शर्मा की विदाई पार्टी में शामिल होने के लिए मुझे निमंत्रण मिला था। लेकिन मैं उस पार्टी में शामिल नहीं हुआ।

- वरुण कपूर, एडीजी इंदौर