-सूरमा भोपाली नहीं खानपान और विरासत है भोपाल की पहचान

-इंटरनेशनल शेफ अजय चोपड़ा से नवदुनिया लाइव की खास बातचीत

भोपाल। नवदुनिया रिपोर्टर

इन दिनों पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा जो शो देखे जाते हैं वे फूड और लाइफ स्टाइल के हैं। भारत में सबसे ज्यादा इन दिनों फूड और ट्रेवलिंग शो काफी पसंद किए जा रहे हैं। ट्राई के नए नियमों के अनुसार अब लोगों को अपने मनपसंद चैनल चुनने की आजादी है। फूड चैनलों को भारतवासियों ने बेहद प्यार दिया है। जिस कारण प्रतिभावान शेफ आज लोगों तक पहुंच सके हैं। मैंने भारत के कई राज्यों के खाने को दुनिया भर के लोगों से पहचान कराई है। भोपाल सूरमा भोपाली के कारण नहीं बल्कि खानपान और विरासत के कारण पहचाना जाता है। मेरी कोशिश अब भोपाल के खाने और यहां के जनजातीय खाने को एक्सप्लोर करने की है। यह कहना था इंटरनेशनल शेफ अजय चोपड़ा का। यह बात उन्होंने नवदुनिया लाइव से खास बातचीत में कही। इस मौके पर उन्होंने भोपाल के फूड लवर्स से जल्द मिलने का वादा भी किया।

साउथ फूड केवल मसाला डोसा और इडली नहीं

शेफ अजय बताते हैं कि मेरा टीवी शो नॉर्दन फ्लेवर्स लोगों के बीच काफी लोकप्रिय हुआ। शो में मैंने नॉर्दन में खाई जाने वाली डिशेज में अपना फ्लेवर मिक्स किया। इनोवेशन के कारण मुझे डिशेज को नया रूप देने में मदद मिली। नॉर्दन खानापान की मिठास के कारण टेस्टी बन जाता है। इसका कारण है कि नॉर्थ साइड पानी काफी हल्का होता है। हम बात करें साउथ की। तो यहां के कुछ इलाकों में खाने की कई वैरायटियां कभी भी अनछुई हैं। साउथ फूड केवल मसाला डोसा और इडली तक सीमित नहीं रह गया है।

नॉर्दन फ्लेवर्स का तीसरा सीजन मार्च के अंत तक

नॉर्दन फ्लेवर्स का तीसरा सीजन मार्च के अंत तक प्रसारित होने की संभावना है। इन शो में कुछ नया करने की कोशिश रहेगी। मैं अपने फूड लवर्स को इस बार इनोवेटिव डिश के साथ-साथ उत्तर में खाये जाने वाले बेसिक फूड को इंट्रोड्यूज कराउंगा। मैंने नये शो के लिए काफी तैयारियां की हैं। फूड लवर्स को हमेशा कुछ नया देना मेरा जुनून रहा है।

संगीत और खाने का है शौक

मुझे संगीत और खाने का काफी शौक है। संगीत में मुझे इंडियन और वेस्टर्न गाने काफी अच्छे लगते हैं। ट्रेवल के दौरान में कई गानों का कलेक्शन अपने साथ रखता हूं। रियल्टी शो में जज बनने के बाद यह जाना है देश में स्वाद का खजाना मौजूद है।