भोपाल/जबलपुर। जबलपुर के पुलिस अधीक्षक अमित सिंह को कमलनाथ सरकार के मंत्री लखन घनघोरिया के साथ एक शादी में नाचना भारी पड़ सकता है।

भाजपा ने मंत्री से एसपी की नजदीकी के आरोप लगाते हुए मुख्य चुनाव आयुक्त से लिखित शिकायत की है।भाजपा की शिकायत पर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी (सीईओ) वीएल कांताराव ने इसकी रिपोर्ट तलब कर ली है।

यह लिखा पत्र में

भाजपा उपाध्यक्ष विजेश लूणावत की अगुवाई में मंगलवार को भोपाल में सीईओ से एक प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात करके यह शिकायत की है। भाजपा प्रदेश कार्यालय के लेटर पैड पर सह संयोजक निर्वाचन समिति एसएस उप्पल, संयोजक शांतिलाल लोढ़ा, प्रदेश उपाध्यक्ष विजेश लूणावत द्वारा हस्ताक्षरित शिकायती पत्र में लिखा गया है कि सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें एसपी प्रदेश के कैबिनेट मंत्री घनघोरिया के साथ नाच रहे हैं। एक आईपीएस अधिकारी द्वारा इस तरह नृत्य से मंत्री के साथ नजदीकियां स्पष्टता से नजर आ रही हैं।

यह भी लिखा गया कि विधानसभा चुनाव-2018 में जबलपुर पूर्व से भाजपा प्रत्याशी और उनके समर्थकों पर बड़ी संख्या में झूठे मामले दर्ज किए गए थे। उन मामलों में ऐसी धाराएं लगाई गई थीं जिनका अपराध प्रमाणित नहीं होता न ही उन धाराओं पर अपराध घटित होना पाया गया। पूरे विधानसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी को लाभ पहुंचाने की दृष्टि से भाजपा प्रत्याशी के विस्र्द्ध अपने अधिकारों की अधिकारिता से ऊपर उठकर कार्य किया गया। आगामी निर्वाचन की स्वच्छता और पारदर्शिता को एसपी का यह कृत्य निश्चित ही प्रभावित करेगा। यह शिकायत करते हुए भाजपा ने एसपी के तबादले की मांग की है।

यह है वायरल वीडियो में

21 फरवरी को जेल रोड बंडा सागर स्थित एक मैरिज गार्डन में आईपीएस अधिकारी विवेकराज सिंह कुकरेले के भाई विनयराज की शादी थी। आमंत्रण पर जबलपुर एसपी अमित कुमार सिंह विवाह समारोह में पहुंचे थे। वहां मंत्री और अन्य अधिकारियों के साथ उन्होंने डांस किया था। उसी समारोह का वीडियो वायरल किया गया है।

इनका कहना है

भाजपा का यह कृत्य ओझी मानसिकता का परिचायक है। राजनीतिक दुष्प्रभाव के चलते इस तरह के आरोप लगाए जा रहे हैं। जिस शादी का वीडियो वायरल हुआ है, वह एक आईपीएस अधिकारी के छोटे भाई की थी, जिसमें मैं भी शामिल हुआ था क्योंकि वह मेरा रिश्तेदार है। रही बात एसपी से नजदीकी की तो उन्हें जबलपुर में भाजपा ने अपने कार्यकाल में ही पदस्थ किया था।

- लखन घनघोरिया, कैबिनेट मंत्री, मप्र

21 फरवरी को मैं अपने सीनियर आईपीएस अधिकारी विवेकराज सिंह कुकरेले के भाई और उनकी बैचमेट असम में कलेक्टर वर्णाली के देवर की शादी में गया था। चुनाव आयोग इस संबंध में पूछताछ करेगा तो हम विधिवत जवाब देंगे।

- अमित सिंह, एसपी जबलपुर

मुख्यमंत्री कमलनाथ के ब्लॉग पर जताया एतराज

इसी तरह भाजपा पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री कमलनाथ के किसानों को लिखे ब्लॉग को भी आचार संहिता का उल्लंघन करार दिया। उन्होंने कहा कि इसके जरिए मुख्यमंत्री ने किसानों को ऋण माफ करने और फसलों के दामों के स्थायी समाधान के लिए कदम बढ़ाने का प्रलोभन देने की कोशिश की है, जो आचार संहिता उल्लंघन के दायरे में आता है। लूणावत ने चुनाव आयोग से इस पर कार्रवाई की मांग उठाई। इस पर मुख्य सचिव सुधिरंजन मोहंती से जवाब मांगा गया है।

नेता प्रतिपक्ष ने लगाया तबादलों में अनियमितता का आरोप

दूसरी ओर नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को पत्र लिखकर चुनाव से जुड़े अधिकारियों-कर्मचारियों के तबादले करने में अनियमितता का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में तबादलों पर प्रतिबंध है। इसके बावजूद राजनीतिक विद्वेष की भावना से तबादले किए गए हैं। पुरानी तारीखों में लगातार आदेश जारी किए जा रहे हैं। जो तबादले हो चुके हैं, उन्हें क्रियान्वित भी नहीं किया जा रहा है।

निशांत वरवड़े का उदाहरण देते हुए भार्गव ने कहा कि उन्हें प्रबंध संचालक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के पद से हटाकर अन्यत्र पदस्थ किया गया है, लेकिन वे अब भी पद पर जमे हुए हैं। उन्होंने चुनाव आयोग से तबादलों की समीक्षा करने और पुरानी तारीखों में जारी हो रहे तबादला आदेशों के क्रियान्वयन पर रोक लगाने की मांग उठाई। इस पर भी सामान्य प्रशासन विभाग से प्रतिवेदन मांगा गया है।