जबलपुर। सोमवार की सुबह से दोपहर तक मौसम खराब रहने से डुमना एयरपोर्ट में आने-जाने वाली 8 उड़ानों का शेड्यूल बिगड़ गया। सुबह 6.15 बजे अहमदाबाद से जबलपुर के लिए टेक ऑफ करके 8.05 बजे डुमना में लैंड होने वाली स्पाइस जेट एयरलाइंस की फ्लाइट को एटीसी ने डायवर्ट करके वाराणसी भेज दिया। यह फ्लाइट वहां से 11.30 बजे दोबारा टेक ऑफ करके डुमना में 12.39 बजे यानी शेड्यूल टाइम से साढ़े 4 घंटे की देरी से लैंड हुई।

स्पाइस जेट के डुमना बुकिंग ऑफिस से बताया है कि सुबह से दोपहर तक डुमना का मौसम खराब रहा। डुमना के रनवे की विजिबिलिटी 1500 से 2000 मीटर रही। सुबह 7.50 बजे डुमना के आसमान पर अहमदाबाद- जबलपुर रूट की फ्लाइट चक्कर काटने लगी। रनवे की विजिबिलिटी कम होने से पायलट ने एटीसी से संपर्क किया और फ्लाइट लैंड करने अनुमति मांगी। एटीसी ने कहा कि डुमना में रनवे की विजिबिलिटी के बढ़ने पर ही फ्लाइट लैंड करने अनुमति दी जाएगी। इसलिए वह फ्लाइट वाराणसी ले जाएं और डुमना का मौसम साफ होने पर दोबारा आएं।

इसी प्रकार दिल्ली, हैदराबाद, मुंबई से आनेवाली और यहां से वापस मुंबई, हैदराबाद, दिल्ली जाने वाली उड़ानों का शेड्यूल बिगड़ा रहा। सभी उड़ानें 30 मिनट से डेढ़ घंटा तक लेट रहीं। इसलिए डुमना एयरपोर्ट में समय पर पहुंचने के बाद भी कई फ्लायर्स परेशान रहे। शाम 6 बजे जबलपुर से दिल्ली जा रही फ्लाइट को टेक ऑफ करने के लिए 15 मिनट तक डुमना का मौसम साफ होने का इंतजार करना पड़ा।

इनका कहना है

डुमना का मौसम खराब होने से दोपहर तक विजिबिलिटी बहुत कम रही। इसलिए यहां आने-जाने वाली शेड्यूल उड़ानों का देरी से संचालन हुआ।

- विवेक उपाध्याय, प्रभारी डायरेक्टर, डुमना एयरपोर्ट

सर्द हवाओं से छूटी कंपकपी, 5 डिग्री गिरा पारा

पहाड़ी क्षेत्रों में हो रही बर्फबारी का असर शहर में दिखने लगा है। सोमवार की सुबह से लेकर शाम होने तक धूप के दर्शन जरूर हुए, लेकिन मौसम सर्द ही बना था। हल्की बदली और धुंध सुबह से दोपहर तक छाई रही। दिनभर सर्द हवाओं का दौर चला। दिन का तापमान एक दिन पहले की तुलना में पांच डिग्री कम हो गया। पहाड़ों पर होने वाली बर्फबारी के चलते तापमान अगले 24 घंटे में और नीचे आएगा।

मौसम विभाग के मुताबिक सुबह व शाम के वक्त कोहरा छा सकता है। संभाग के कुछ हिस्सों में शीतलहर का प्रकोप भी देखने मिल सकता है।