जबलपुर। साल 2019 के लोकसभा चुनाव लड़ने वाले कुल 22 प्रत्याशी हैं। शुक्रवार को नाम वापसी के आखिरी दिन 3 उम्मीदवारों ने अपने नाम वापस लिए। नाम वापसी से पहले जबलपुर लोकसभा सीट के लिए 25 उम्मीदवार चुनाव मैदान में थे और कुल 27 ने पर्चे दाखिल किए थे। स्क्रूटनी में दो फार्म को निरस्त किया गया था। नास वापसी में दोपहर 3 बजे यह साफ हो गया कि 29 अप्रैल को होने वाले मतदान में दो बैलेट यूनिट का उपयोग किया जाएगा। क्योंकि उम्मीदवारों की संख्या 16 से ज्यादा हो चुकी है।

रिटर्निंग अधिकारी एवं कलेक्टर छवि भारद्वाज के सामने पहुंचे तीन उम्मीदवारों ने विधिवत आवेदन प्रस्तुत किया। जिसके बाद उनके नामांकन फार्म वापस हुए। वहीं दोपहर 3 बजे के बाद बचे निर्दलीय व रजिस्टर्ड दल के उम्मीदवारों को चुनाव चिन्ह का वितरण किया गया।

यह उम्मीदवार लड़ेंगे चुनाव

नेशनल पार्टी

- बीजेपी से राकेश सिंह

- बसपा से रामराज राम

- कांग्रेस से विवेक कृष्ण तन्खा

रजिस्टर्ड पार्टी प्रत्याशी व चिन्ह

- कुलदीप अहिरवार रिपब्लिकन पार्टी, तरबूज

- चंद्र प्रकाश भटनागर, आरक्षण विरोधी पार्टी, तुरही

- देवेन्द्र कुमार यादव, प्रगतिशील समाजवादी पार्टी, चाबी

- भूषण प्रसाद शुक्ला, भारतीय शक्ति चेतना पार्टी,बांसुरी

- माहू सिहं, गोंडवाना गणतंत्र पार्टी,आरी

- शहनाज बी अंसारी, स्मार्ट इंडियन पार्टी, हीरा

- सुख देव दाहिया, भारतीय जनसंपर्क पार्टी, फूल गोभी

निर्दलीय प्रत्याशी व चिन्ह

- अमजद खान, बैटरी टार्च

- अशोक सिंह लोधी, नारियल फार्म

- गुलाब सिंह उर्फ विवेक, ऑटो रिक्शा

- डा.ढाई अक्षर, गुब्बारा

- धानुक, एयर कंडीशनर

- राकेश सिहं, बल्ला

- राकेश सिंह, फुटबाल

- रामदयाल प्रजापत, सेव

- इंजी.रूपराम सिंह, ट्रैक्टर चलाता किसान

- लक्ष्मी नारायण जगन्नाथ सिंह लोधी, गन्ना किसान

- विनय कुमार जैन, विन्नू भैया, अलमारी

- श्री लाल मरकाम (बड़े श्री), लेपटॉप

प्रत्याशियों को बताएंगे नियम कायदे

जिले में लोकसभा चुनाव के सभी 22 प्रत्याशियों की बैठक आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित की गई है। इस बैठक में रिटर्निंग अधिकारी एवं कलेक्टर छवि भारद्वाज प्रत्याशियों के लिए लागू नियमों की जानकारी देंगी। वहीं उनके चुनावी खर्च का हिसाब किताब कैसे रखा जाना है, किस तरह कार्यक्रम,सभा आदि की परमिशन प्राप्त करना है। इन सभी जानकारियों से उन्हें अवगत कराया जाएगा।

इन्होंने लिया नाम वापस

नामांकन फार्म जमा करने वाले सबसे पहले उम्मीदवार देवेन्द्र शुक्ला भारतीय शक्ति पार्टी, अखिल भारतीय गोंडवाना पार्टी के पुरषोत्तम लाल गोटिया और शिवकुमार पटेल हिन्दु स्थान निर्माण दल ने दोपहर 3 बजे के निर्धारित समय से पहले ही नामांकन फार्म वापस ले लिया। रिटर्निंग अधिकारी छवि भारद्वाज ने उनका आवेदन प्राप्त किया और मौके पर ही नाम वापसी की प्रक्रिया पूरी की गई। अफसर व कर्मचारियों को उम्मीद थी कि कम से कम 5 लोग नाम वापस लेने आएंगे। लेकिन ऐसा नहीं हुआ और सिर्फ तीन उम्मीदवार ही कार्यालय पहुंचे।

प्रत्याशियों के खर्च का हिसाब शुरू

प्रत्याशियों के नाम फाइनल होते ही सभी के चुनावी खर्च का हिसाब भी शुरू हो गया। शुक्रवार से ही उन्हें अपने रजिस्टर में हिसाब भी रखना होगा। यह हिसाब 29 अप्रैल मतदान वाले दिन तक और उसके बाद रिजल्ट घोषित होने व विजय जुलूस निकालने तक रखा जाएगा। निर्वाचन आयोग व तैनात प्रेक्षक कम से कम तीन बार समीक्षा करेंगे। वहीं आयोग तक सभी प्रत्याशियों के खर्च का ब्योरा भेजा जाएगा। प्रत्याशी के साथ जिला निर्वाचन कार्यालय द्वारा भी निगरानी की जाएगी और अलग से हिसाब रखा जाएगा।