जबलपुर। रांझी मानेगांव में रहने वाले शांतनु ने शुक्रवार को अपना मोबाइल चार्जिंग में लगाया था। तभी उनका फोन आया। फोन में कुछ देर बात हुई और फिर मोबाइल से धुआं निकलने लगा। इससे शांतनु के हाथ और कान जल गए। मोबाइल से ज्यादा धुआं निकलता देखकर उसने फोन को उठाकर दूर फेंक दिया। धुंआ बंद होने पर जब मोबाइल को देखा, तो वह पूरी तरह से जलकर खाक हो चुका था। मामले की शिकायत थाने में की है।