जबलपुर। एक मामले में गुरुवार को गोरखपुर थाने सिफारिश करने थाने पहुंचे बदमाश रज्जा ने कुछ इस अंदाज में अपनी बातों को टीआई के सामने रखा कि वह समाजसेवी है। लेकिन कुछ ही देर में एक हवलदार ने टीआई को बदमाश रज्जा के अपराधी होने की सूचना दी। सूचना मिलते ही टीआई संदीप अयाची ने उससे पूछताछ शुरू कर दी। जब रज्जा का रिकार्ड निकाला गया, तो उस पर 50 से अधिक मामले दर्ज थे। इसके बाद उसे फटकारते हुए उसकी गुंडा फाइल और निगरानी खोली। इसके अलावा वैद्यानिक कार्रवाई की गई।