जबलपुर। रेल प्रशासन ने बुधवार को एक ट्रेन को घेरकर जांच की। इस दौरान महानगरी एक्सप्रेस में सवार 12 अवैध वेंडरों को पकड़ लिया गया। इन वेंडरों ने जलगांव, भुसावल, इटारसी स्टेशनों से ट्रेन में सवार होना बताया है। जबकि रेलवे ने अवैध वेंडरों को आरपीएफ के सुपुर्द कर दिया।

जानकार बताते हैं कि रेलवे से अनुमति लिए बिना कई लोग ट्रेनों के यात्रियों को खाद्य सामग्री बेचने का धंधा कर रहे हैं। मुंबई से रवाना होकर वाराणसी जा रही महानगरी एक्सप्रेस के एक यात्री ने ट्रेन में अवैध वेंडरों का दल होने की शिकायत की। इसपर सीनियर डीसीएम राजेश शर्मा ने अधिनस्थ अमले को मामले की जांच के निर्देश दिए। इसलिए मुख्य स्टेशन पर जैसे ही महानगरी एक्सप्रेस आकर ठहरी, तो उसके सभी कोचों में सवार वेंडरों के परिचय पत्र, फिटनेस के कागजों आदि की जांच की गई। अचानक जांच होने से ट्रेन में सवार अवैध वेंडरों में भगदड़ की स्थिति निर्मित हो गई। हालांकि ट्रेन के बाहर मौजूद रेलवे के अमले ने भागने से पहले ही अवैध वेंडरों को पकड़ लिया गया। आरपीएफ ने सभी अवैध वेंडरों के खिलाफ रेलवे एक्ट के तहत कार्रवाई करके दोपहर बाद उन्हें विशेष न्यायालय में पेश कर दिया।